नई दिल्ली. भारत के पहले सहकारिता सम्मेलन का आयोजन 25 सितम्बर 2021 को नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में होने जा रहा है। माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के सहकार से समृद्धि के लक्ष्य को केंद्र में रखकर अस्तित्व में आये सहकारिता मंत्रालय के पहले सहकारिता मंत्री माननीय अमित शाह जी अपने तरह के पहले और अनूठे सहकारी समागम में सहकारिता से जुड़े लोगों को संबोधित करेंगे।

देश एवं विदेश के करोड़ों लोग इस कार्यक्रम को देखेंगे

इस मौके पर सहकारिता राज्य मंत्री बी. एल. वर्मा और इंटरनैशनल कोआपरेटिव एलांयस (ग्लोबल) के अध्यक्ष डॉ. एरियल ग्वार्को मौजूद रहेंगे। इस सम्मेलन में देशभर के लगभग 2000 से अधिक सहकारी बंधु सदेह एवं दुनिया भर से करोड़ों सहकारी जन कार्यक्रम में आभासी रूप से शामिल होंगे। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण 25 सितम्बर 2021 को प्रातः 11 बजे से इफको, भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ, अमूल, सहकार भारती, नैफेड, कृभको के आधिकारिक सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एवं अन्य माध्यमों से किया जाएगा जिससे देश एवं विदेश के करोड़ों लोग इस कार्यक्रम को देखेंगे।

हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में सहकारिता मंत्रालय का गठन किया गया है और मंत्रालय की बागडोर श्री अमित शाह जी को सौंपी गयी। देश में सहकारिता आंदोलन को मज़बूत करने के लिए एक अलग प्रशासनिक, कानूनी और नीतिगत ढांचा प्रदान करने, सहकारी समितियों को जमीनी स्तर तक पहुँचाने वाले एक जन आधारित आंदोलन के रूप में मज़बूत करने में मदद करने एवं सहकारी समितियों के लिए ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस’ के लिए प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करने और बहु-राज्य सहकारी समितियों (MSCS) के विकास को सक्षम करने के लिए गठित सहकारिता मंत्रालय का मूल मंत्र है ‘सहकार से समृद्धि’।

‘सबका साथ, सबका विकास’

प्रधानमंत्री मोदी जी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ के स्वप्न को अमली जामा पहनाने के लिए सहकारिता मंत्रालय निश्चित रूप से अभूतपूर्व कार्य करेगा। भारत के पहले सहकारिता सम्मेलन का आयोजन भारत की अग्रणी सहकारी संस्था इफको, भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ, अमूल, सहकार भारती, नैफेड, कृभको एवं समस्त सहकारी परिवार मिलकर कर रहा है। देशभर के अलग-अलग राज्यों एवं विभिन्न सहकारी क्षेत्रों के प्रतिनिधि इस सम्मेलन में शामिल होकर आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने की दिशा में अपना योगदान देंगे।

गौरतलब है कि भारतीय सहकारिता की मुहिम को तेज और मजबूत करने के लिए इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलांयस (ग्लोबल) के अध्यक्ष डॉ. एरियल ग्वार्को भी शामिल हो रहे हैं। विश्व के 110 देशों की लगभग 30 लाख सहकारीसंस्थाएँ इंटरनैशनल कोआपरेटिव एलांयस (ग्लोबल) से जुड़ी हुई हैं। परोक्ष रूप से यह सम्मेलन वैश्विक पटल पर भारतीय सहकारिता को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाएगा। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ के ध्येय को साकार रूप देने में मदद मिलेगी।

Assam: clashes between police and protesters, अमस में हिंसक झड़प, 2 की मौत

PM Modi in US: वाशिंगटन पहुंचे पीएम मोदी का जबरदस्त स्वागत, आज इन लोगों से मिलेंगे