हरियाणा. हरियाणा के रोहतक जिले के टिटोली गांव को जिला प्रशासन ने सील कर दिया है. यह कदम गांव में 28 रहस्यमय मौतों के दो दिन बाद लिया गया है. पड़ोसी गांवों में वायरस के प्रसार को रोकने के लिए बुधवार को पूरे गांव को एक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया. रिपोर्टों से पता चलता है कि गांव में दो दिन बुखार रहने के बाद युवा समेत दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गई.

इस बीच, मौत से गांव में दहशत फैल गई है. एक रिपोर्ट के मुताबिक यह संदेह है कि मौतें कोविड-19 के कारण हुईं. टिटोली गांव को एक कंटेनमेंट जोन घोषित करने के बाद, जिला प्रशासन ने गांव के प्रवेश और निकास बिंदुओं को सील कर दिया है. इस बीच कोविड-19 दिशानिर्देशों को लागू करने के लिए गांव के प्रवेश बिंदु पर पुलिस तैनात की गई है.

प्रभावित गांव से लिए गए 80 नमूनों में से 21 लोगों का बुधवार को परीक्षण किया गया. मंगलवार को 42 नमूने लिए गए, जिनमें से नौ लोग कोरोना पॅाजिटिव पाए गए. रोहतक के उप-मंडल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) ने टिटोली गांव का दौरा किया और जमीन पर स्थिति का आकलन किया.

एसडीएम राकेश सैनी के हवाले से रिपोर्ट में कहा, “गांव को एक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है. चूंकि परीक्षण किए गए लोगों में से 25 प्रतिशत सीओवीआईडी ​​पॉजिटिव थे, इसलिए हम बड़े पैमाने पर परीक्षण और टीकाकरण करेंगे.”

Hamirpur Yamuna River : अंतिम संस्कार में असमर्थ लोग गंगा और जमुना में बहा रहे अपनों की लाश, हमीरपुर में बहकर आई कई लाशों को देखकर लोगों में डर

Azam Khan Admitted At Hospital : कोरोना की वजह से आजम खान की तबियत बिगड़ी, सीतापुर जेल से लखनऊ के मेदांता में किए गए शिफ्ट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर