पटना. मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड में मंत्रीपद गंवाने वाली समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा इसी मामले को लेकर बीजेपी पर हमलावर हैं. अपने इस्तीफे के बाद मंजू वर्मा ने बीजेपी के कोटे से नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा का इस्तीफा मांगा है. मंजू वर्मा ने उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को चुनौती दी है कि अगर उनमें जरा भी नैतिकता बची है तो वे अपने मंत्री को कैबिनेट से बर्खास्त करें. मंजू वर्मा ने कहा कि जिस मामले में मेरे पति का नाम आने पर मीडिया और विपक्ष ने मुझसे मेरा इस्तीफा मांगा आज वे चुप क्यों हैं? सुरेश शर्मा का इस्तीफा क्यों नहीं मांगा जा रहा.

मंजू वर्मा ने कहा कि इस मामले में सुरेश शर्मा का नाम भी तो आया था, उनसे इस्तीफा क्यों नहीं मांग जा रहा? क्या नैतिकता सिर्फ मेरे लिए ही थी. मंजू वर्मा ने कहा कि उन्हें एक महिला होने के नाते टारगेट किया गया. इस मामले में सुरेश शर्मा का नाम भी आया था लेकिन उनके खिलाफ कोई आवाज नहीं उठ रही. मंजू वर्मा अपने विधानसभा क्षेत्र चेरिया बरियारपुर में एक जनसभा को संबोधित कर रही थीं. सुशील कुमार को चुनौती देते हुए उन्होंने कहा कि उनके अंदर अगर जरा भी नैतिकता बची है तो वे सुरेश शर्मा का इस्तीफा लें. उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो आंदोलन करने को भी तैयार हैं.

बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका संरक्षण गृह में अनाथ बच्चियों से रेप के आरोप में ब्रजेश ठाकुर जेल में है. ब्रजेश ठाकुर की कॉल डिटेल निकालने पर पता चला कि समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति ने सात महीने में उससे 18 बार फोन पर बात की थी. इस मामले में नीतीश की मंत्री मंजू वर्मा को पति के नाम के चलते इस्तीफा देना पड़ा था.

मंजू वर्मा के इस बयान पर सुरेश शर्मा ने भी प्रतिक्रिया दी है. सुरेश वर्मा ने मीडिया से कहा कि मंजू वर्मा को आवेश में आकर इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस मामले में अगर मेरी जरा भी संलिप्तता सामने आती है तो मुझे फांसी दे दी जाए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार या सुशील मोदी से भी मेरी कोई बात नहीं हुई है. दोनों पता कर लें अगर मेरी संलिप्तता की कोई जानकारी मिले तो मुझे मंत्री पद से बर्खास्त कर दें.

बिहार के मुजफ्फरपुर ही नहीं राज्य के 14 और शेल्टर होम में बच्चियों के साथ हो रहा अत्याचार: रिपोर्ट

भोपाल हॉस्टल रेप केस: चौथी छात्रा बोली- पोर्न दिखाकर अप्राकृतिक संबंध बनाने को मजबूर करता था अश्विनी शर्मा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App