तिरुवनंतुपुरमः केरल में आई भयानक बाढ़ थमने के बाद बेघर हुए लोगों को आश्रय देने के लिए देश भर से मदद के लिए हाथ उठ रहे हैं. राहत कार्यों में अलग-अलग जगहों से सांप्रादायिक मिसाल कायम करने वाली खबरें भी आ रही हैं. राज्य के मलप्पुरम जिले में स्थित एक मस्जिद में हिदूं परिवारों के आश्रय औऱ खान-पान की व्यवस्था की गई है. बाढ़ के कारण कई हिंदू परिवार बेघर हो गए हैं जिन्हें मस्जिदों में सहारा दिया जा रहा है. वहीं बाढ़ के कारण प्रभावित हुए मंंदिर की सफाई करते हुए दो मुस्लिम युवकों की फोटो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है.

बता दें कि बाढ़ पीड़ितों को सहारा देने के लिए उत्तरी मलप्पुरम की जुमा मस्जिद राहत कैंप में तब्दील हो गई है. 8 अगस्त को हुई मूसलाधान बारिश के चलते ये इलाका पूरी तरह से तबाह हो गया था. जिस कारण 17 हिंदू परिवार बेघर हो गए थे जिनमें बच्चे, बुजुर्ग और महिलाएं भी शामिल हैं. इन बेघरों को मस्जिद में ठहरने की व्यवस्था की गई है साथ ही इनके खान-पान का ध्यान रखा जा रहा है. बेघरों के लिए खाना मस्जिद की कैंटीन में पकाया जा रहा है.

इस मामले पर चलियार गांव के पंचायत प्रमुख पीटी उस्मान ने बताया कि जुमा मस्जिद में करीब 78 लोगों को आश्रय दिया गया है. ये सभी हिंदू समुदाय से हैं. मस्जिद में ये राहत कैंप 8 अगस्त से चल रहा है. उस्मान ने बताया बाढ़ का पानी उतरने के बाद कई परिवार अपने-अपने घर भी लौट गए हैं. 

यह भी पढ़ें- केरल में बाढ़ से तबाह हुए घर को देखने पहुंचा शख्स रह गया भौचक्का, आंगन में घूम रहा था मगरमच्छ

केरल में विनाशकारी बाढ़ पर पिनराई विजयन से कांग्रेस बोली, दैवीय आपदा नहीं, ये 34 बांध खोलने में सरकार की है नकामयाबी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App