Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 
सांकेतिक तस्वीर

दुल्हन के वरमाला पहनाने के बाद खुशी के मारे हवा में दागा तमंचा, मेहमान...

0
Bride Groom Video: बिहार के भोजपुर जिले के नारायणपुर इलाके से शादी के महफ़िल में गोलीबारी का मामला सामने निकल कर आ रहा है....
Congress

किसके सर सजेगा हिमाचल के मुख्यमंत्री का ताज, कांग्रेस के विधायक दल की बैठक...

0
शिमला. हिमाचल प्रदेश में 40 सीटें जीतकर कांग्रेस सत्ता में वापस आ गई है, लेकिन अब कांग्रेस में सीएम पद को लेकर मंथन चल...

सलाम वेंकी : जानिए कैसी है फिल्म, बॉक्स ऑफिस पर होगी शानदार कमाई?

0
मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस काजोल अपनी फिल्म सलाम वेंकी को लेकर खूब सुर्ख़ियों में हैं। फैंस अभिनेत्री की इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार कर...
SHEHNAAZ GILL

शहनाज गिल ने पैपराजी को बोली ऐसी बात जिसके बाद हो रही हैं ट्रोल

0
मुंबई: शहनाज गिल किसी न किसी वजह से सुर्ख़ियों में रहती हैं। फैंस उन्हें हर अंदाज में देखना पसंद करते हैं। शहनाज आज किसी...

क्या हिमाचल में गुजरात और उत्तराखंड फार्मूला न अपनाकर भाजपा ने की कोई बड़ी...

0
नई दिल्ली. हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे बीते दिन आ गए. कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव में 40 सीटें जीतकर सत्ता को अपने...

मोदी जी का आत्मनिर्भर भारत बनाने का सपना, डिग्रीधारक लड़की चाय बेच कर रही है पूरा

बिहार। एक लड़की ने अर्थशास्त्र में स्नातक की पढ़ाई पूरी की और फिर नौकरी की तलाश शुरू कर दी. जब उसे दो साल तक कोई नौकरी नहीं मिली तो चाय की दुकान खोलने का फैसला किया. अर्थशास्त्र में स्नातक की छात्रा ने पटना के महिला कॉलेज के बाहर टपरी में चाय की दुकान खोली. ग्रेजुएट प्रियंका गुप्ता ने कहा, ‘मैंने 2019 में यूजी (स्नातक) किया लेकिन पिछले 2 साल में नौकरी नहीं मिल पाई. मैंने प्रफुल्ल बिलोर से प्रेरणा ली. उन्होंने यह भी कहा, ‘देश में कई चायवाले हैं, चायवाली क्यों नहीं हो सकते?’

महिला कॉलेज के खोली चाय की दुकान

बता दें कि बिहार की राजधानी पटना में 24 साल की प्रियंका गुप्ता ने नौकरी न मिलने पर चाय की दुकान खोलने का फैसला लिया है. बिहार के पूर्णिया जिले की मूल निवासी प्रियंका गुप्ता दो साल की कड़ी मेहनत के बावजूद बैंक प्रतियोगी परीक्षाओं में फेल होने के बाद पटना महिला कॉलेज के पास चाय की दुकान चला रही हैं. महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ से स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्रियंका ने इसी साल 11 अप्रैल से चाय बेचना शुरू किया. वह अपने स्टॉल पर अच्छी संख्या में ग्राहकों को आकर्षित कर रही हैं.

पत्रकारों से बातचीत में बताई वजह

मीडिया से बात करते हुए प्रियंका ने कहा, ‘मैं पिछले दो साल से लगातार बैंक प्रतियोगी परीक्षाओं को क्रैक करने की कोशिश कर रही हूं. लेकिन पूरा समय व्यर्थ गया. इसलिए घर वापस जाने के बजाय, मैंने पटना में एक ठेले पर चाय की दुकान लगाने का फैसला किया. इसमें मुझे कोई हिचक नहीं है. शहर में अपनी चाय की दुकान खोली और मैं इस व्यवसाय को आत्मनिर्भर भारत की ओर एक कदम के रूप में देखती हूं.

एमबीए चायवाला से हुई प्रभावित

अहमदाबाद में चाय की दुकान चलाने वाले प्रफुल्ल बिलोर को प्रियंका अपना रोल मॉडल मानती हैं. MBA करने के बावजूद बिलोर ने एक चाय की दुकान शुरू की और अब उनका बहुत बड़ा व्यवसाय है. 24 वर्षीय प्रफुल्ल बिलोर ग्राहकों को चाय की दुकान की ओर आकर्षित करने के लिए ‘पीना ही पडेगा…’सोच मत… चालू कर दे बस’ जैसी दिलचस्प पंचलाइनों का उपयोग करते हैं.

 

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

Latest news