दाहोदः गुजरात में मॉब लिंचिंग का एक और मामला सामने आया है. यहां भीड़ ने मोबाइल चोरी के शक में सड़क पर ही इंसाफ सुना दिया. भीड़ ने मोबाइल चोरी के आरोप में दो युवकों को इतनी बेरहमी से पीटा कि एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दूसरा युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

शक के आधार पर भीड़ द्वारा लोगों के साथ हो रही क्रूरता थमने का नाम नहीं ले रही है. भीड़ ने एक बार फिर से दो युवकों के साथ मारपीट की है. घटना गुजरात के दाहोद की है. यहां मोबाइल चोरी के आरोप में भीड़ ने दो युवकों को खूब पीटा जिसमें एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा युवक बेहद ही बुरी हालत में अस्पताल में भर्ती है. मरने वाला युवक अजमेर मेहताल धानपुर तहसील के उंडारका का रहने वाला था. घायल युवक गरबाडा तहसील के खुजरिया गांव का रहने वाला है. बताया जा रहा है कि मृतक युवक पर 32 मामले दर्ज थे. पुलिस ने मॉब लिंचिंग के इस पूरे मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बताते चलें कि गुजरात के राजकोट, अहमदाबाद में इससे पहले भी भीड़ द्वारा बच्चा चोरी के आरोप में ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया जा चुका है. राजकोट में एक मंदिर के पुजारी ने एक शख्स को देख बच्चा चोर होने के शक में शोर मचा दिया था. जिसके बाद भीड़ तुरंत एकत्रित हो गई और फिर लोगों ने बिना सोचे-समझे युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी. वहीं अहमदाबाद में भी कुछ दिनों पहले बच्चा चोरी के आरोप में भीड़ ने एक महिला की हत्या कर दी थी. बता दें कि राजस्थान के रहने वाले रकबर खान को भी कुछ दिनों पहले कथित तौर पर गौ रक्षकों ने पीट-पीटकर मार डाला था. बाद में राजस्थान पुलिस ने यह स्वीकार किया कि रकबर की मौत पुलिस कस्टडी में हुई थी.

अलवर लिंचिंग के बाद यूपी के हाथरथ में मरी भैंस ले जा रहे दो हिंदू और दो मुस्लिमों को भीड़ ने पीटा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App