नई दिल्ली : हिंदू धर्म में सभी तीर्थ स्थलों की अपनी एक मान्यता है. जिनमें से एक है उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में स्थित गिरिराज पर्वत. जो करोड़ों हिंदुओं की आस्था का केंद्र है. इस बीच गिरिराज पर्वत की शिलाओं को ऑनलाइन बेचने का मामला सामने आया है. दरअसल, लक्ष्मी डिवाइन आर्टिकल स्टोर्स नाम की एक संस्था ने ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी इंडिया मार्ट (चेन्नई) पर गिरिराज पर्वत की शिलाओं को ऑनलाइन बेचने का विज्ञापन डाल दिया है. जिसके बाद हिंदू धर्म के लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है.

बता दें कि जिस कंपनी ने विज्ञापन दिया है उसने नेचुरल गिरी गोवर्धन शिला गोवर्धन स्टोन गिरिराज कृष्ण शिला लिखा कर एक फोटो भी लगाई है और इसकी कीमत 5,175 रुपए रखी गई है. इस विज्ञापन के बाद श्रद्धालुओं व संतों ने गोवर्धन थाना का घेराव कर हंगामा किया और आस्था से खिलवाड़ बताते हुए कंपनी मालिक और कंपनी के खिलाफ गिरफ्तारी की मांग की गई है. 

इस घटना पर दीनबंधु दास महाराज का कहना है कि  गिरिराज जी महाराज हम सभी साधु संतों और ब्रजवासियों के इष्ट हैं. ऐसे में यह हरकत बरदाश नहीं की जाएगी. वहीं संतों का कहना है कि आए दिन देश में हिन्दू भावनाओं के साथ खेलवाड़ किया जा रहा है. कभी हिन्दू देवी-देवताओंं को लेकर कोई अभद्र टिप्पणी कर देता है तो कभी कोई भगवान राम को लेकर कुछ बोल देता है. ऐसे में ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार को इस ओर कोई ठोस कदम उठाना चाहिए.

वहीं अब गोवर्धन पर्वत के पत्थरों को ऑनलाइन बेचने वाली कंपनी इंडिया मार्ट के फाउंडर और सीईओ दिनेश अग्रवाल, को-फाउंडर ब्रजेश अग्रवाल और मथुरा में सप्लायर अंकुर अग्रवाल के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर रविवार रात को उन्हें गिरफ्तार कर लिया है.

बाबा रामदेव योग VIDEO: कपालभाति, अनुलोम-विलोम और ये योग दिलाएंगे तकलीफों से मुक्ति

Teacher Kills Son: अल्लाह को खुश करने के लिए केरल में टीचर ने काट दिया 6 साल के बेटे का गला, बाद में खुद दी पुलिस को जानकारी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर