सीतामढ़ी: बिहार में खौफनाक मामला सामने आया है. एक 24 साल के लड़के की सीतामढ़ी जिले में गांववालों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. यह घटना उस वक्त हुई, जब एक पिक अप वैन ड्राइवर ने आरोप लगाया कि युवक ने उससे पैसे छीनने की कोशिश की. रिगा पुलिस थाने के तहत आने वाले रामनगरा गांव में यह घटना हुई. इस मामले में 150 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

मरने वाले पहचान रुपेश झा के तौर पर हुई है. सीतामढ़ी सदन के डीएसपी वीर धीरेंद्र ने एनडीटीवी को बताया, रुपेश की पिकअप वैन ड्राइवर के साथ रविवार (9 सितंबर) को विवाद हुआ था, जिसके बाद गांववालों ने एेसा खौफनाक कदम उठाया.रुपेश को पहले सदर अस्पताल ले जाया गया. बाद में उसे पटना मेडिकल कॉलेज शिफ्ट कर दिया गया, जहां उसकी मौत हो गई. धीरेंद्र ने कहा कि रुपेश की हत्या की वजह का अब तक पता नहीं चल पाया है. मामले की जांच की जा रही है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पिक अप वैन के ड्राइवर ने आरोप लगाया कि झा उससे पैसे छीनकर बाइक पर भागने की कोशिश कर रहा था. जब उसने शोर मचाया तो गांववाले जमा हो गए और बेंत से उसे पीटने लगे. हालांकि झा के रिश्तेदारों का दावा है कि उसे भीड़ ने इसलिए पीटा क्योंकि वह पिक अप वैन को ओवरटेक करने की कोशिश कर रहा था. जब पूछा गया कि क्या ‘छीना’ हुआ पैसा मिला तो डीएसपी ने कहा कि इस मामले की जांच सभी एंगल से की जा रही है.

बता दें कि बिहार में पिछले एक हफ्ते में मॉब लिंचिंग का यह दूसरा मामला है. 7 सितंबर को 3 लोग एक नाबालिग लड़की को अगवा करने बेगुसराय के सरकारी स्कूल में घुसे थे, जहां भीड़ ने उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी. बिहार पुलिस ने कहा कि 3 लोगों को 5000 लोगों की मौजूदगी में पीट-पीटकर मार डाला गया.

उत्तर प्रदेशः मामूली बात पर दलित किसान को पीट-पीटकर मार डाला, एक अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App