बैतूलः मध्य प्रदेश के बैतूल में एक परिवार के खुदकुशी करने का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि परिवार कर्ज के बोझ तले दबा हुआ था. आत्महत्या से पहले परिवार के मुखिया ने दो सुसाइड नोट भी लिखे थे. एक नोट में इस बात का जिक्र किया गया है कि पहले उन्होंने जहर खाकर जान देने की सोची थी लेकिन बेटी ने रोते हुए अपने पिता से कहा कि उसे मरना नहीं है. इसके बाद पिता ने पत्नी और बेटी समेत कुएं में कूदकर जान दे दी. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

मामला बैतूल के बारस्कर कॉलोनी इलाके का है. पुलिस ने बताया कि विनोद और उसका परिवार यहां किराए पर रहता था. विनोद कैश वैन का ड्राइवर था. विनोद पर दो लाख रुपए का कर्ज था. विनोद अपने मकान मालिक से यह कहकर घर से निकला था कि वह इलाज कराने के लिए नागपुर जा रहा है. मंगलवार सुबह जब दूधवाला उनके घर पहुंचा तो घर का दरवाजा खुला हुआ था. उसने मकान मालिक को इसकी जानकारी दी. घर की तलाश में उन्हें एक सुसाइड नोट मिला.

नोट में दो लाख रुपए कर्ज और कर्जदारों के परेशान करने की बात लिखी थी. नोट में लिखा था, ‘मैं सुबह बेटी को जहर दे रहा था लेकिन उसने रोते हुए जहर खाने से मना कर दिया. वो बोली पापा मुझे जीना है. बच्ची की बात सुनकर मैं भी रोने लगा और जहर खाकर जान देने का इरादा बदल दिया.’ मकान मालिक ने फौरन पुलिस को इत्तला किया. पुलिस उनकी तलाश में निकली ही थी कि कुछ देर बाद उन्हें कुएं में तीन लाशें होने की सूचना मिली.

शव विनोद और उसके परिवार के ही थे. विनोद की जेब से एक और सुसाइड नोट मिला है लेकिन पानी में धुलने की वजह से कुछ साफ नहीं दिख रहा है. विनोद के भाई सुनील ने पुलिस को बताया कि विनोद पिछले काफी समय से परेशान था. उस पर दो लाख रुपए का कर्ज था. वह दो हजार रुपए महीने का लोन भरता था. कर्ज की वजह से ही विनोद ने आत्महत्या की है. फिलहाल पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है. पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है.

फेसबुक लाइव पर युवक ने की आत्महत्या, पत्नी संग झगड़े से था परेशान

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App