Monday, December 5, 2022

महाराष्ट्र : नहीं थमा कोरोना, 2000 के पार नए मामले, 5 की मौत

मुंबई, महाराष्ट्र में इस समय कोरोना की स्थिति बिगड़ती नज़र आ रही है. देश में किसी राज्य से अगर अधिक मामले सामने आ रहे हैं तो वह महाराष्ट्र ही है. जहां सबसे अधिक मौतें भी इसी राज्य में दर्ज़ की जा रही है. बीते 24 घंटे की बात करें तो राज्य में कोरोना के कुल 2,369 नए मामले सामने आए हैं. वहीं बीते 24 घंटे में कुल 1,402 मरीज़ ठीक भी हुए हैं. इस दौरान कुल 5 मरीजों की कोरोना से मृत्यु भी दर्ज़ की गई है. बहरहाल राज्य में कोरोना के सक्रीय मामलों की संख्या 25,570 हो गई है.

रविवार को आए 6000 मामले

महाराष्ट्र में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. रविवार की बात करें तो महाराष्ट्र राज्य में कोरोना के 6 हजार से ज्यादा मामलें दर्ज किये गए. इस दौरान 5 कोरोना मरीजों की मौत भी हुई. बता दें कि ये सारी मौतें मुंबई में दर्ज़ की गई. राज्य की राजधानी मुंबई में रविवार को दो हजार से ज्यादा केस मिले थे. जहां इस समय सबसे ज़्यादा हालात ख़राब हैं. मुंबई में कोविड का पॉजिटिविटी दर भी अब 13 फीसद के करीब आ गई है.

मुंबई में हुई है सारी मौतें

गौरतलब है कि कोरोना महामारी अपने शुरुआती चरण से ही महाराष्ट्र को प्रभावित किया है और शुरुआत से ही ये राज्य महामारी का केंद्र रहा है। अभी भी कोरोना के सबसे ज्यादा केस यहीं से आ रहे हैं। जिस बीच राजनीति के भी कई बड़े चेहरे कोरोना संक्रमित हुए.

बूस्टर डोज पर विशेष ध्यान

आईसीएमआर और भारत बायोटेक के अध्ययन में विशेषज्ञों का कहना है कि कोवैक्सीन की बूस्टर खुराक कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप के खिलाफ टीके का प्रभाव बढ़ाती है। अध्ययन में कहा गया है कि सीरियन हैमस्टर मॉडल (मनुष्य से जुड़ी बीमारियों का अध्ययन करने वाले पशु मॉडल) में डेल्टा स्वरूप के खिलाफ टीकाकरण की दो-तीन खुराक के बाद भारत बायोटेक के कोवैक्सीन से मिलने वाली सुरक्षात्मक क्षमता तथा ओमीक्रोन के स्वरूपों के खिलाफ इसके प्रभाव का अध्ययन किया गया। इस अध्ययन के नतीजे पिछलें दिनो बायोआरक्सिव में प्रकाशित हुए।

 

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news