मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के तुरंत फ्लोर टेस्ट कराए जाने का आदेश आने के बाद बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. फडणवीस ने बहुमत परीक्षण से पहले ही मंगलवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कहा कि हमें यानी बीजेपी को 105 सीटों का जनादेश मिला था. उनके पास सरकार बनाने के लिए बहुमत नहीं है इसलिए वे सीएम पद से इस्तीफा देने जा रहे हैं. इसके कुछ ही देर पहले अजित पवार ने भी महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया. देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस तीनों पार्टियां बीजेपी पर तीखे तंज कस रही हैं और इसे महाराष्ट्र की जनता की जीत करार दे रही हैं.

मीडिया से बातचीत करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमने कभी शिवसेना से ढाई-ढाई साल के सीएम का वादा नहीं किया था. हमने शिवसेना का काफी इंतजार किया लेकिन उद्धव ठाकरे की पार्टी ने एनसीपी और कांग्रेस से बातचीत शुरू कर दी. शिवसेना ने अपना ही मजाक बना लिया. इसी कारण राज्य में 15 दिनों के बाद राष्ट्रपति शासन लगा.

देवेंद्र फडणवीस ने नई सरकार को शुभकामनाएं भी दीं औऱ कहा कि हम विपक्ष का काम बखूबी रूप से निभाएंगे. हालांकि उन्होंने कहा कि तीन पार्टियों की सरकार नहीं चल सकती है. तीन पहियों की सरकार चलना मुश्किल है.

देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना समेत अन्य विरोधी पार्टियों के नेताओं ने बीजेपी पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा है कि ‘जनमत’ को अगुवा करने वालों के ‘अल्पमत’ की पोल खुल ही गई. अब साफ है कि भाजपा में चाणक्यनीति के मायने प्रजातंत्र का अपहरण है. देवेंद्र फड़नवीस और अजित पवार को महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगनी चाहिए. उनकी सरकार झूठ और दलबदल पर आधारित थी जो ताश के पतों सी गिर गई.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी का कहना है कि बीजेपी ने लोकतंत्र की अवधारणा को खत्म करने की कोशिश की है. साथ ही राज्यपाल कार्यालय से लेकर पीएमओ तक का माहौल खराब करने का काम किया है. सबसे दुर्भाग्य की बात तो यह है कि यह सब बीजेपी संविधान दिवस के दिन कर रही है. सुप्रीम कोर्ट का फ्लोर टेस्ट का आदेश संविधान दिवस के दिन बेहतरीन उदाहरण है.

इसी तरह नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी यानी एनसीपी के नेता नवाब मलिक ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस का इस्तीफा महाराष्ट्र की जनता की जीत है.

शिवसेना नेत्री प्रियंका चतुर्वेदी ने शायरी के जरिए बीजेपी और देवेंद्र फडणवीस पर तंज कसा है.

राजस्थान के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने ट्वीट कर लिखा है कि सत्ता के लालच में बीजेपी ने हर नियम को तोड़ने मरोड़ने और लोकतांत्रिक प्रक्रिया को नुकसान पहुंचाने का काम किया है. शुक्र है कि बीजेपी अलोकतांत्रिक, अनैतिक कामों में सफल नहीं हुई और संविधान में जनता का विश्वास अभी कायम है. 

Also Read ये भी पढ़ें-

महाराष्ट्र के असली चाणक्य BJP के अमित शाह नहीं NCP के शरद पवार निकले

देवेंद्र फडणवीस ने कहा- विपक्ष में बैठना मंजूर मगर हॉर्स ट्रेडिंग नहीं करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App