ग्वालियरः मोदी सरकार भले ही देश से वीवीआईपी कल्चर खत्म करने की बात कर रही हो लेकिन मध्य प्रदेश में हुक्मरानों से इसकी आदत छूटने का नाम नहीं ले रही है. ताजा मामला ग्वालियर का है, जहां राज्य की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को रेलवे स्टेशन लेने पहुंची उनकी कार सभी नियमों को ताक पर रखकर प्लेटफॉर्म तक चली गई. यह पूरा मामला कैमरे में रिकॉर्ड हो गया. कार प्लेटफॉर्म तक ले जाने पर जुर्माने का प्रावधान है लेकिन इस मामले में अभी तक किसी पर एक्शन नहीं लिया गया है.

दरअसल खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ट्रेन से ग्वालियर पहुंची थीं. उनकी कार रेलवे स्टेशन पर उनको रिसीव करने के लिए पहुंची थी. कार चालक ने सभी नियमों को ताक पर रख दिया और कार को प्लेटफॉर्म तक ले गया ताकि मंत्री महोदया को दो कदम चलने की भी जहमत न उठानी पड़े. यह पूरा मामला कैमरे में रिकॉर्ड हो गया. मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ट्रेन से उतरती हैं और अपनी कार में बैठकर आगे बढ़ जाती हैं.

गौर करने वाली बात यह है कि रेलवे प्लेटफॉर्म के गेट पर एक साइनबोर्ड लगा हुआ है, जिस पर नियमों का उल्लंघन करने पर 500 रुपये का जुर्माना लगाने की बात लिखी है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जब इस मामले में यशोधरा राजे सिंधिया से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. बहरहाल बीजेपी नेता इसे मामूली बात बता रहे हैं. उनका कहना है कि मीडिया को हर बात को तूल नहीं देना चाहिए.

गौरतलब है कि हाल ही में मध्य प्रदेश पुलिस ने जब ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर एक शख्स को पकड़ा तो उसने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उसके साले (पत्नी के भाई) हैं. पुलिस ने उस शख्स का चालान किया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था. जब इस बारे में सीएम से बात की गई तो उन्होंने कहा कि कानून अपना काम करेगा. राज्य में उनकी करोड़ों बहनें हैं और वह बहुत से लोगों के साले हैं.

कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी ने बांधे एमपी सीएम शिवराज सिंह चौहान की तारीफों के पुल

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App