लखनऊः उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का भगवा रंग अब शहर की इमारतों के साथ-साथ शिक्षण संस्थानों पर भी चढ़ता नजर आ रहा है. इसके पीछे कारण है लखनऊ विश्वविद्यालय की तरफ से छात्रों के लिए जारी की गई एक अजीबोगरीब एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें बड़ा बेतुका सा तर्क दिया गया है. इन नोटिस में विश्वविद्यालय ने 14 फरवरी यानी वेलेंटाइन डे को यूनिवर्सिटी परिसर में आने के लिए मना किया गया है. नोटिस में ये भी लिखा है कि पिछले कुछ वर्षों से पाश्चात्य संस्कृति से प्रभावित होकर युवा वर्ग 14 फरवरी को वेलेंनटाइन डे के रुप में मना रहा है.

14 फरवरी को विश्वविद्यालय में महाशिवरात्रि पर्व के चलते अवकाश रखा गया है. साथ ही नोटिस में छात्रों के परिजनों से भी अपील की गई है कि वेलेंटाइन डे वाले दिन अपने बच्चों को यूनिवर्सिटी ना भेजें. एडवाइजरी को ना मानने वाले छात्र-छात्राओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलानुशासक कार्यालय की तरफ से जारी इस एडवायजरी में लिखा है कि ‘गत वर्षों ऐसा देखा गया है कि पाश्चात्य संस्कृति से प्रभावित होकर समाज के नवयुवक 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे के रुप में मनाते हैं. जिसके चलते विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं को सूचित किया जाता है कि 14 फरवरी को विश्वविद्यालय में महाशिवरात्रि पर्व का अवकाश है जिसके कारण परिसर में निम्नलिखित व्यवस्था की गई है.

इस प्रेस नोट में बताया गया है कि विश्वविद्यालय 14 फरवरी को पूरी तरह बंद रहेगा तथा किसी भी प्रकार की क्लास या कोई प्रैक्टिकल नहीं होंगे. इसके अलावा परिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. कुलानुशासक कार्यालय की तरफ से जारी इस नोटिस में छात्रों से परिसर में ना आने की अपील तो की ही गई है साथ ही उनके परिजनों से उनको यूनिवर्सिटी ना भेजने की अपील भी की गई है. जिसमें एडवायरजी का उल्लंघन करने वाले छात्र-छात्राओं के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कही गई है. 

BHU विवाद : कुलपति की धमकी, छुट्टी पर भेजा तो दे दूंगा इस्तीफा

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App