उत्तर प्रदेश. लखीमपुर खीरी कांड में आरोपी अंकित दास ने एसआईटी के सामने सरेंडर कर दिया है. अंकित दास पर किसानों को रौंदने को आरोप है, जिन गाड़ियों से किसानों को कुचला गया था उनमें से एक गाड़ी अंकित दास की थी. इससे पहले एसआईटी ने अंकित दास के आवास पर नोटिस चस्पा किया था जिनमें उन्हें लखीमपुर के क्राइम ब्रांच के ऑफिस में बयान के लिए मौजूत होने को कहा गया था. बता दें अंकित दास पूर्व सांसद अखिलेश दस का भतीजा हैं और लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा का करीबी है.

ऐसे पकड़ा गया अंकित दास

नोटिस में अंकित दास को आज यानि 13 अक्टूबर को पेश होने को कहा गया था. खबरों के मुताबिक अंकित दास और उनके गनर को पुलिस ने उस वक़्त पकड़ लिया जब वह कोर्ट में सरेंडर के लिए पहुंचे थे. बता दें लखीमपुर मामले में राजनीति भी गरम हो चुकी है. लगातार बड़े बड़े मंत्री लखीमपुर पहुंचे और मृत किसानो के परिवार से मिले। इसी सिलसिले में आज राहुल गाँधी की अगवाई में कई नेता राम नाथ कोविंद से मिलने पहुंचे है. कांग्रेस शुरू से ही आशीष मिश्रा के पिता केंद्रीय राज्य मंत्री के बर्खास्तगी की मांग कर रही है.

लखीमपुर हिंसा में अब तक कुल 4 लोगो की गिरफ़्तारी हो चुकी है जिनमें आशीष मिश्रा, लवकुश, आशीष पांडेय और अब अंकित दास शामिल हैं.

यह भी पढ़ें :

CBSE EXAM UPDATE: जल्द जारी होंगे 10वीं,12वीं की डेटशीट,जानिए क्या रहेगा एग्जाम पैटर्न

Up Election 2022 : क्या तृणमूल कांग्रेस में शामिल होंगे ललितेश त्रिपाठी? बोले- राहुल-प्रियंका का करेंगे सम्मान