नई दिल्लीः आपने करोड़पति लोगों को तो बहुत बहुत देखा होगा. साथ ही आपने कौन बनेगा करोड़पति ने लोगों को करोड़पति बनते भी देखा हो लेकिन क्या आपने कभी करोड़पति कुत्तों को देखा है?. आपका जवाब यकीनन नहीं में होगा. लेकिन ये खबर एकदम सच है. गुजरात के मेहसाणा में 70 कुत्ते रहते हैं. ये कुत्ते कोई आम कुत्ते नहीं हैं ये सभी कुत्ते करोड़पति हैं यकीन न हो तो पढ़िए इस रिपोर्ट को और जानिए हकीकत.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक, मेहसाणा में गांव में कुत्तों के कल्याण के लिए मध नी पती कुतरिया नामक एक संस्था बनाई गई है. जानकारी के मुताबिक इस संस्था के पास 21 बीघा जमीन है. दूसरी तरफ मेहसाणा में बाईपास बनने की वजह से यहां जमीनों के दाम आसमान छू रहे हैं. उस बाइपास के चलते जमीन का प्रति बीघा रेट 3.5 करोड़ रुपये से उपर पहुंच चुका है. और इसी वजह से संस्था के पास कुल 21 बीघा जमीन की कीमत आज के समय में 70 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है. सबसे बड़ी बात ये कि इस जमीन से जितनी भी कमाई होगी वो सिर्फ कुत्तों के लिए ही है. इस हिसाब से इस संस्था में रहने वाला प्रत्येक कुत्ता लगभग एक करोड़ रुपये का मालिक है.

कुत्तों के लिए बनाई गई इस संस्था के अध्यक्ष छगनभाई पटेल के मुताबिक, गुजरात के मेहसाणा में कुत्तों के कल्याण की खातिर जमीन दान देने की परंपरा है. इस परपंरा को ‘कुतारियु’ कहते हैं. और इस गांव में जीवदया का एक लंबा इतिहास रहा है. इस परपंरा की शुरूआत अमीर घरों द्वारा जमीन दान के रुप में हुई थी. और दान की जिनकी देखरेख करने में वो असमर्थ थे. छगनभाई ने कहा, मेहसाणा में जमीन के दाम पहले इतने नहीं थे. लेकिन जब से बाईपास का निर्माण शुरू हुआ है यहां की जमीनों के दाम आसमान छूने लगे हैं.

पटेल ने बताया कि, कुत्तों के लिए मिली जमीन की देखभाल लगभग 80 साल पहले पटले किसानों ने शुरू की थी. उसके बाद से प्रत्येक वर्ष जमीन को बुवाई के लिए सीजन के हिसाब से नीलाम किया जाता है. उस नीलामी में जो सबसे ज्यादा रकम देता है उसे इस जमीन पर एक साल तक खेती करने का अधिकार प्राप्त हो जाता है. नीलामी से होने वली कमाई को कुत्तों की देखभाल और उनके कल्याण के लिए रखा जाता है. पटेल ने जानकारी दी कि, ट्रस्ट ने कुत्तों के खाने पीने की अच्छी व्यवस्था के लिए एक रोतला घर बनाया है. जहां दो महिलाएं कुत्तों के खाने के लिए रोतला तैयार करती हैं. इन कुत्तों के लिए बनाए जाने रोतला के लिए प्रतिदिन लगभग 20 से 30 किलो आटे की जरुरत होती है. जो उनके लिए कमाए गए पैसों से ही आता है.

 

कुत्ते को बेरहमी से पीटने वाले शख्स पर गुस्साईं रवीना टंडन, कहा- मिले कड़ी सजा

2019 के लिए विपक्ष की एकजुटता पर बोले अमित शाह- मोदी की बाढ़ में सांप, कुत्ते, बिल्ली, नेवला सब साथ आ गए

वीडियो: उत्तम नगर में कुत्ते ने किया बच्चे पर जानलेवा हमला, दो महिलाओं को भी कांटा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App