नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में चल रहा किसान अंदोलन थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. साथ ही इस मुद्दे पर रोजना नए- नए आयाम देखने को मिल रहे हैं. इस बीच गुरुवार को कांग्रेस ने किसानों के समर्थन में कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज उठाई. जिसके चलते कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई में विपक्ष ने दिल्ली की सड़को पर मार्च निकालने का फैसला लिया और राहुल गांधी समेत कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद और अधीर रंजन चौधरी कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मिलने पहुंचे. इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कांग्रेस के अन्य नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया और उन्हें मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन लेकर पहुंच गई, हालांकि बाद में सभी को रिहा कर दिया गया.

बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कांग्रेस के अन्य नेताओं की हिरासत पर दिल्ली पुलिस के एडिशनल डीसीपी दीपक यादव ने कहा, कांग्रेस नेताओं के राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकालने की अनुमति नहीं दी गई है. हालांकि, तीन नेताओं को राष्ट्रपति भवन जाने की अनुमति दी गई है. उसके बाद भी कांग्रेसी नेता सड़कों पर एकत्रित हुए. जिसके लिए उन्हें हिरासत में लिया गया वहीं बाद में रिहा कर दिया गया है. इस घटना पर प्रियंका गांधी वाड्र का कहना है कि मोदी सरकार जिद पर अड़ गई है. आज जो भी सरकार से सवाल करता है, उन्हें देशद्रोही बता दिया जाता है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकार के दिल में किसानों के लिए कोई इज्जत नहीं है.

बता दें कि किसानों और केंद्र सरकार के बीच चल रहे इस गतिरोध को एक महीना होने वाला है, लेकिन अभी तक कोई बीच का रास्ता नहीं निकल पाया है. वहीं आज किसानों द्वारा एक बार फिर प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी. जिसमें किसान नेता अपने आंदोलन का कारण बताएंगे. फिलहाल, कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का पदर्शन लगातार जारी है.

Kisan Andolan Update : किसानों के समर्थन में मैदान में उतरा विपक्ष, धारा 144 लागू, तीन नेता समेत राष्ट्रपति से मिलेंगे राहुल गांधी

Narendra Modi Govt Atal Pension Yojana: नरेंद्र मोदी सरकार की अटल पेंशन योजना, हर महीने मिलेंगे पांच हजार, जानिए क्या है पूरी स्कीम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर