चेन्नई: केरल में आठ अगस्त से जारी जोरदार बारिश से अब तक मरने वालों का आंकड़ा 37 पर पहुंच चुका है. जिसके बीच शनिवार को बारिश में कमी आई है लेकिन इतनी बड़ी संख्या में हुई लोगों की मौत को देखते हुए राज्य सरकार सतर्क बनी हुई है. जिसके बाद मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने राज्य के बाढ़ प्रभावित हिस्से का हवाई सर्वेक्षण किया.

जिसके बाद उन्होंने कहा कि इस बारिश और बाढ़ में जिन लोगों ने अपने घरों और जमीनों को खोया है उन्हें 10 लाख का मुआवजा दिया जाएगा. इसके अलावा जिस परिवार ने अपने किसी सदस्य को खोया है उनको चार लाख का मुआवजा दिया जाएगा. उन्होंने कहा. केरल इस वक्त भारी बारिश और भयंकर बाढ़ की चपेट में है और इस आपदा के कारण राज्य में काफी नुकसान हुआ है.

कई दिन से हो रही लगातार बारिश के चलते केरल का आधे से ज्यादा हिस्सा भीषण बाढ़ की चपेट में है. सीएम पिनाराई विजयन ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया. इस दौरान उनके साथ हैलिकॉप्टर में विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला भी नजर आए. बाढ़ प्रभावित राज्य के दौरे के वक्त सत्तापक्ष के साथ विपक्ष का साझा दौरा चर्चाओं में है. राजनीति में ऐसे वाकये बहुत कम देखने को मिलते हैं. लेकिन इसे एक मिशाल के तौर पर देखा जा रहा है.

सीएम पिनाराई विजयन ने बाढ़ पीड़ित मृतकों के परिवारों को 4 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है. वहीं जिन लोगों के घर ढह गए हैं उनके लिए 10 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है. पीएम मोदी ने भी सीएम विजयन से फोन पर बात कर मदद का भरोसा दिया है. वहीं, गृहमंत्री राजनाथ सिंह रविवार को राज्य का जायजा लेने जाएंगे.

बता दें कि केरल में पिछले कई दिन से भारी बारिश हो रही है. इससे राज्य का आधे से ज्यादा हिस्सा भीषण बाढ़ की चपेट में है. यहां अब तक करीब 29 लोगों की मौत हो गई है और 55 हजार के आसपास लोग बेघर बताए जा रहे हैं. केरल में 8 अगस्त से लगातार भारी बारिश हो रही है जिसके चलते राज्य की लगभग सभी 40 नदियां उफान पर हैं. इडुक्की डैम में पानी अपनी क्षमता से सिर्फ दो फिट नीचे है. इसमें ओवरफ्लो की आशंका के चलते शुक्रवार को डैम के पांचों गेट खोल दिए गए थे.

Kerala Flood Live Updates: सीएम पिनरई विजयन का ऐलान, बाढ़ में बेघर होने वालों को मिलेगा 10 लाख का मुआवजा

केरल बारिश: बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 26 लोगों की मौत, सेना तैनात, PM नरेंद्र मोदी ने CM से की बात

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App