नई दिल्ली. केरल में लेफ्ट के छात्र विंग ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन (AISF) की शर्मनाक हरकत सामने आई है. AISF ने गत रविवार (9 सितंबर) को मरीन ड्राइव के रेनबो पुल के पास एक पंचिंग बैग लगाया जिसके जरिए उन्होंने पीएम पद की गरिमा को भी तार-तार कर दिया. दरअसल, AISF द्वारा लोगों के लिए लगाए गए पंचिंग बैग पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगी थी. AISF ने इस तस्वीर के सहारे लोगों को दो ऑप्शन दिये थे, ‘हग मोदी और पंच मोदी.’

हग मोदी और पंच मोदी चैलेंज के जरिए AISF के सदस्य जानना चाहते थे कि लोग पीएम नरेंद्र मोदी के काम से कितना खुश हैं. ऐसे में जो लोग खुश थे उन्हें पीएम मोदी की तस्वीर वाले इस पंचिंग बैग को गले लगाना था और जो खुश नहीं थे उन्हें पंच मारना था. इस इवेंट के आयोजकों ने विकल्प रखा था कि जो लोग पीएम मोदी के कामकाज से खुश नहीं हैं वे पंच के अलावा लात भी मार सकते हैं. AISF के इस चैलेंज में हिस्सा लेने के लिए लोगों की भीड़ जुट गई.

इवेंट के आयोजकों की तरफ से कहा गया कि करीब 500 लोगों ने पंच मोदी, हग मोदी चैलेंज में हिस्सा लिया. उन्होंने बताया कि यहां सभी ने पीएम मोदी की तस्वीर वाले पंचिंग बैग पर पंच मारा. एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं था जिसने इस बैग को हग किया हो. इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें लोग पंचिंग चैलेंज में हिस्सा ले रहे हैं. AISF का यह कदम पूर्णतया प्रधानमंत्री पद की गरिमा के खिलाफ माना जा रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, AISF एर्नाकुलम जिलाध्यक्ष एमआर हरिकृष्णन ने कहा कि वर्तमान में देश की हालत काफी दयनीय है, हर दिन पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत में इजाफा हो रहा है. इसके अलावा केंद्र सरकार ने बाढ़ राहत के लिए भी उचित राशि नहीं दी इससे भी मलयालयी लोग नाराज हैं. इसीलिए AISF विरोध करने का कुछ अलग तरीका अपनाना चाहता था. इसीलिए पंच मोदी, हग मोदी चैलेंज का आयोजन किया गया था. हरिकृष्णन ने आगे कहा कि हम पीएम मोदी को टारगेट नहीं कर रहे, बल्कि उनके चेहरे को केंद्र सरकार के प्रतीक के रूप में इस्तेमाल किया गया.

बीजेपी के पोस्टर पर सीएम योगी आदित्यनाथ बने अर्जुन तो पार्टी सांसद ने निभाई श्रीकृष्ण की भूमिका

ममता बनर्जी का बीजेपी पर हमला, कहा- कट्टर हिंदूवाद को बढ़ावा दे रही नरेंद्र मोदी सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App