कठुआः कठुआ गैंगरेप-मर्डर केस के एक आरोपी स्पेशल पुलिस अफसर दीपक खजूरिया की मंगेतर उससे कुछ सवाल पूछना चाहती है. 24 साल की सोनम (बदला हुआ नाम) कहती हैं कि वह दीपक से जेल में मिलकर उसकी आंखों में देखकर पूछना चाहती हैं कि क्या वाकई उसने उस मासूम बच्ची के साथ घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है. अगर उसका जवाब हां होगा तो वह अपने माता-पिता से यह रिश्ता तोड़कर दूसरा लड़का ढूंढने के लिए कहेंगी और अगर दीपक निर्दोष है तो वह पूरी जिंदगी भर उसका इंतजार करेंगी.

सोनम कहती हैं, ‘मुझे पता है कि वो मुझसे झूठ नहीं बोलेंगे. अब बस मुझे उनसे एक बार मिलने का इंतजार है.’ सोनम आगे कहती हैं कि पिछले साल 7 दिसंबर को दीपक की उससे सगाई हुई थी और इसी साल 26 अप्रैल को उनकी शादी होनी थी. वह कभी-कभार फोन पर बात करते थे. वह सगाई के बाद बहुत कम मिले थे. सोनम को सीबीआई जांच पर पूरा भरोसा है. वह कहती हैं कि जांच के बाद साफ हो जाएगा कि दीपक बेगुनाह है या फिर उस मासूम का कसूरवार. दूसरी ओर दीपक की मां कहती हैं कि सोनम को दीपक से मिलने के लिए जेल जाने देना अभी सही नहीं होगा. यहां तक कि वह खुद अपने बेटे से
मिलने जेल नहीं गई हैं.

बता दें कि 10 जनवरी को कठुआ की रहने वाली 8 साल की मासूम का अपहरण करने के बाद उसके साथ कई दिनों तक गैंगरेप किया गया था. पुलिस ने हाल में इस मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है. चार्जशीट के अनुसार, रिटायर्ड राजस्व अफसर संजी राम इस वारदात का मास्टरमाइंड है. उसके साथ 7 अन्य लोग भी इस जघन्य अपराध में शामिल थे. मासूम की हत्या से पहले विशेष पुलिस अधिकारी दीपक ने बच्ची से एक बार रेप करने की बात कही थी. चार्जशीट दाखिल होने के बाद देश में इस घटना को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है. सोशल मीडिया पर आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग की जा रही है. वहीं एक गुट आरोपियों के बचाव में भी अभियान चला रहा है.

कठुआ गैंगरेप मामला: पीड़िता के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- सीबीआई जांच नहीं चाहते

कठुआ गैंगरेपः पीड़िता की वकील दीपिका सिंह राजवंत ने कहा- मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App