कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक शख्स को देशभक्ति दिखाना काफी मंहगा साबित हो गया. दरअसल देशभक्ति दिखाकर प्रशंसा बटोरने की जल्दबाजी में उस शख्स ने एक इस्लामिक झंडे को पाकिस्तान का झंडा बताते हुए पुलिस को गलत खबर दे डाली. पुलिस ने जब झंडे की छानबीन में शिकायतकर्ता को गलत पाया तो उल्टा उसे ही गलत खबर और देश के सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने के केस में जेल भेज दिया.

मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस को गलत सूचना देने वाले इस शख्स का नाम गौरव वर्मा है. गौरव जिले के बगाही इलाके में एक गैस स्टोव रिपेयरिंग की दुकान चलाता है. बीते दिन गौरव ने पुलिस को फोन कर यह जानकारी दी की बाबूपुरवा इलाके में स्थित एक जिम के संचालक ने अपनी छत पर पाकिस्तानी झंडा फहराया हुआ है. इस बात की सूचना मिलते ही पुलिस छानबीन करने उस जिम में पहुंची लेकिन पूरी छानबीन के बावजूद पुलिस को वहां कोई भी पाकिस्तानी झंडा नहीं नजर आया.

पुलिस अधिकारी अशोक कुमार वर्मा के मुताबिक, पुलिस ने मामले की जांच में पाया कि गौरव ने पाकिस्तानी झंडे की गतल सूचना पुलिस को दी. जिम संचालक की छत पर पाकिस्तानी नहीं बल्कि इस्लामिक झंडा था. हालांकि, जब गौरव से पूछा गया तो उसने इस्लामिक झंडे को पाकिस्तानी झंडा बताया. फिलहाल पुलिस ने गौरव के खिलाफ गलत सूचना और शांति भंग करने के मामले में केस दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है. वहीं पुलिस ने बताया कि पाकिस्तानी झंडे में आधा चांद और एक सितारा बना होता है जबकि इस्लामिक झंडे में तीन सितारे बने होते हैं.

समीक्षा यात्रा पर बक्सर पहुंचे नीतीश कुमार के काफिले पर पत्थरबाजी, कई सुरक्षाकर्मी घायल

चीफ जस्टिस के खिलाफ चार सीनियर जजों के प्रेस कॉन्फ्रेंस पर क्या कहते हैं रिटायर्ड जज और बड़े वकील

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App