नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने पीएचडी की थीसिस पूरी की है. देश के लोगों के टैक्स के पैसे पर कब तक पढ़ते रहोगे जैसे सवालों का सामना करने वाले छात्र नेता कन्हैया कुमार ने पीएचडी की थीसिस पूरी करने के बाद उसे अपनी मां को भेंट किया है. कन्हैया कुमार ने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है.

छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने ट्वीट में कहा है कि ”गरीबी को सपनों की राह में बाधा नहीं बनने देने वाली मेरी मां को आज अपनी थीसिस भेंट करने के बाद ही मुझे पीएचडी पूरी करने का अहसास हुआ. यह थीसिस देश के संविधान को समर्पित है जो सभी वंचितों को ‘अवसर की समानता’ देता है व सभी किसानों, मजदूरों और मेहनतकशों को भी जो हर वस्तु पर टैक्स देते हैं.”

गौरतलब है कि वामपंथी छात्र नेता कन्हैया कुमार ने कई बार पढ़ाई कब खत्म होगी जैसे सवालों का सामना किया है. ऐसे में इन सवालों के जवाब में कन्हैया कुमार हमेशा कहते हैं कि पढ़ाई-लिखाई की कोई उम्र नहीं होती. और जिन लोगों को पढ़ाई का कोटा सिर्फ डिग्री लेकर पूरा करना है वो इस बात से परेशान होते हैं कि उनकी पढ़ाई पूरी क्यों नहीं हो रही है और कब तक वो जेएनयू में पढ़ते रहेंगे.

वहीं आम लोगों के टैक्स के पैसे पर पढ़ने के आरोप पर कन्हैया कुमार कहते हैं कि टैक्स तो देश का गरीब से गरीब आदमी भी दे रहा है क्योंकि आयकर के अलावा भी दूसरे टैक्स हैं जो हम बाजार से खरीदने वाली हर चीज पर देते हैं और ये टैक्स गरीब लोगों को देना पड़ता है. बता दें कि कन्हैया कुमार सीपीआई पार्टी के छात्र विंग एआईएसएफ के नेता हैं. साल 2015 में वे जेएनयू में छात्रसंध अध्यक्ष चुने गए थे. 

जेएनयू वाले कन्हैया कुमार बोले- बीजेपी वो वाशिंग मशीन है जिसमें सारे पाप और दाग धुल जाते हैं, अल्लाह और राम के झगड़े में जीतेगा नाथूराम

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App