नई दिल्ली. दिल्ली जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी में हॉस्टल समेत अन्य चीजों पर 300 प्रतिशत शुल्क बढ़ाने को लेकर छात्रों के लगातार प्रदर्शन के बाद आखिकार नरेंद्र मोदी सरकार ने फीस बढ़ाने के फैसले को वापस ले लिया है. जेएनयू में छात्रों को शिक्षक संघ का भी समर्थन मिला. छात्रों की मांग थी कि उनके खाने और रहने के सुविधा पर 300 प्रतिशत बढ़ाए गए शुल्क के फैसले को वापस लिया जाए.

फीस बढ़ाने को लेकर पिछले 10 दिनों से छात्र कैंपस में विरोध प्रदर्शन कर रहे थे जो सोमवार को हिंसक भी हुआ. इस दौरान पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया जिसके बाद यह मामला और तूल पकड़ा गया.

एचआरडी सेक्रेटरी आर सुब्रमण्यम ने ट्वीट करते हुए कहा ”जेएनयू की एग्जीक्यूटिव कमेटी ने हॉस्टल और अन्य सर्विसों पर बढ़ाई गई अधिकतर चीजों में फीस को कम करने का फैसला किया है, साथ ही आर्थिक कमजोर छात्रों की सहायता के लिए एक स्कीम का भी प्रस्ताव रखा है. अब समय क्लास में वापस जाने का है. ” 

JNU Protest Live News Updates: जेएनयू में हॉस्टल फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे स्टू़डेंट्स और पुलिस की जबरदस्त भिड़ंत, जानिए क्या है छात्रसंघ की मांगें और पूरा मामला

JNU Students Protest Police Clash: जेएनयू में हॉस्टल फीस बढ़ाने पर छात्रों का विरोध प्रदर्शन, शिक्षक संघ का समर्थन, वीसी के इस्तीफे की मांग, 600 जवान तैनात