भुवनेश्वर. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग-UGC ने चक्रवात जवाद के प्रभावों के कारण राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा यूजीसी-नेट और भारतीय विदेश व्यापार संस्थान-आईआईएफटी की रविवार को होने वाली प्रवेश परीक्षा ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के कुछ केंद्रों पर स्थगित कर दी गई है।  ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल और अन्य राज्यों के बाकी सभी शहरों में परीक्षा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगी.

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी-NTA के मुताबिक यूजीसी-नेट 2020, जून 2021 का परीक्षा कार्यक्रम आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम, ओडिशा के पुरी, भुवनेश्वर, कटक, गंजम जिले के बरहामपुर और रायगढ़ जिले के गुनुपुर केंद्रों के लिए पुनर्निर्धारित करना पड़ा है  इसके अलावा रेलवे ने भी यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए और किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए 122 ट्रेनों को रद्द कर दिया है.

ओडिशा के 19 जिलों के स्कूल किए गए बंद

चक्रवात ‘जवाद’ के चलते छात्रों की सुरक्षा के तहत जिले के 19 जिलोमन को बंद रखने का फैसला किया गया है. प्रदेश के कई जिलों में आज से स्कूलों को बंद करने के आदेश जारी किए हैं. दरअसल, जिन 19 जिलों के स्कूल बंद रखने का फैसला लिया गया है. इन जिलों के चक्रवात से ज्यादा प्रभावित होने की आशंका है. वहीँ, सरकार ने सभी जिला कलेक्टरों को निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को निकालने के भी निर्देश दिए हैं.

चक्रवात ‘जवाद’ से निपटने को तैयार झारखण्ड

झारखण्ड में प्रकृति के प्रकोप यानि कि चक्रवात ‘जवाद’ से निपटने की तैयारी पूरी कर ली गई है. एनडीआरएफ टीमें पूरी तरह से हाई अलर्ट मोड पर हैं वहीँ, सुरक्षा कारणों से कई ट्रेनों और परीक्षाओं को रद्द किया गया है. बता दें कि चक्रवती तूफान जवाद का असर शनिवार से झारखंड में रहेगा. इस कारण शनिवार, रविवार और सोमवार को झारखंड के कई इलाकों में बारिश होगी. इसके अलावा 4, 5 और 6 दिसंबर तक झारखंड के दक्षिणी और मध्य हिस्सों में इसका असर दिखने वाला है. जिसके चलते कई इलाकों में प्रशासन ने येलो अलर्ट भी जारी किया है.

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर