Wednesday, December 7, 2022

एमसीडी चुनाव 2022 नतीजे

एमसीडी चुनाव  (250 / 250)  
BJP - 104
CONG - 09
AAP - 134
OTH - 03

लेटेस्ट न्यूज़

उत्तराखंड : कोर्ट ने Facebook पर लगाया 50 हजार का जुर्माना, जानिए पूरा मामला

0
नैनीताल : बुधवार (7 दिसंबर) को नैनीताल हाईकोर्ट ने फेसबुक पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है. ये जुर्माना सही समय पर जवाब दाखिल...

हैदराबाद : देह व्यापर में धकेली जा रही थीं 14 हज़ार लड़कियां, ऐसे पकड़ा...

0
Hyderabad: हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस को देह-व्यापर के गोरकधंधे में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पुलिस ने वेश्यावृत्ति का राजफास करते हुए 17...

मैच देखने वाले Rahul Gandhi के वीडियो पर बोले प्रमोद कृष्णम- MCD नतीजे भी...

0
नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी यानी दिल्ली के नगर निगम चुनाव के नतीजे सामने आ गए हैं. दिल्ली एमसीडी में पहली बार आम आदमी...

Jharkhand News: पुलिस की मौजूदगी में भीड़ ने पति को जिंदा जला दिया, पत्नी लगाती रह गई गुहार

झारखंड, झारखंड के सिमडेगा मॉब लिंचिंग में मारे गए युवक संजू प्रधान की पत्नी सपना देवी ने चौकाने वाले खुलासे किए हैं. सपना देवी ने पुलिस पर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं. सपना का कहना है कि घटना के दिन गांव में पुलिस पहले से मौजूद थी और पुलिस के सामने ही भीड़ ने उसके पति को जिंदा जला दिया. इस दौरान वह पुलिस वालों के सामने अपनी पति को छुड़ाने के लिए गिड़गिड़ाते रही, लेकिन किसी भी पुलिस वाले ने उसकी मदद नहीं की.

गोहत्या का विरोध के चलते हुई हत्या पत्नी

इस मामले में मारे गए युवक संजू प्रधान की पत्नी सपना देवी ने बताया कि उनका पति गोहत्या का विरोध करता था. वो गोरक्षा के समर्थक थे, इसी वजह से भीड़ ने उन्हें इस तरह मार डाला. सपना ने आगे बताया कि गोरक्षक होने के चलते उनके पति काफी समय से आरोपियों के निशाने पर थे. करीब 500 लोगों ने मिलकर उनके पति संजू प्रधान को पत्थर और डंडों से मारकर घायल किया और फिर उन्हें जला दिया.

पुलिस ने शुरू की जांच

इस मामले पर संजू प्रधान की पत्नी सपना देवी के आरोपों पर पुलिस का कहना है कि मामले की सूचना मिलते ही पुलिस टीम गांव की ओर जा रही थी, लेकिन रास्ते में अचानक सैकड़ों भीड़ उमड़ पड़ी और उन्हें गांव जाने से रोका दिया. जिसके बाद अन्य थानों की पुलिस बल मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी और आक्रोशित भीड़ ने संजू की निर्मम हत्या कर दी थी. मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर उपायुक्त सुशांत गौरव और पुलिस अधीक्षक डॉ शम्स तब्रेज ने बुधवार को बेसराजारा पहुंचकर घटना का पूरा ब्यौरा लिया.

सियासत गरमाई

इस मामले के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकताओं ने पुतला फूंका है. कोलेबिरा में बीजेपी के पदाधिकारियों ने सड़क जाम कर न्याय की मांग की.

 

यह भी पढ़ें:

India Corona Update : दोगुने रफ्तार से बढ़ रहा कोरोना, एक दिन में 90,000 से अधिक नये केस

Latest news