नई दिल्ली/ झारखंड के चतरा जिले से एक सुखद अहसास कराने वाली खबर सामने आ रही है. झारखंड के चतरा जिले में वैवाहिक लग्न के एक प्रेमी जोड़े ने बिना शुभ मुहूर्त के भगवान को साक्षी मानकर एक दूसरे के साथ बंधन में बंध गए. दोनों प्रेमी पिछले पांच साल से एक दूसरे के साथ रिलेशनशिप में थे. यह मामला गिद्धौर प्रखंड का है. प्रेमी आशीष और प्रेमिका पूनम शादी के बाद आदर्श प्रेमी युगल बन गए हैं.

प्रेमिका पूनम ने प्रेमी आशीष को शॉर्ट नोटिस पर मंगलवार को मिलने बुलाया और प्रेमिका ने प्रेमी को बताया कि उसके माता पिता ने उसी शादी दूसरे लड़के के साथ तय कर दी है. तभी प्रेमी ने मंदिर में शादी करने के लिए अपनी एक शर्त रख दी और दोनों ने चट मंगनी पट ब्याह कर लिया.

प्रेमी जोड़े लंबे समय से एक दूसरे के साथ रिलेशन में थे. फिर परिस्थिति देखते हुए दोनो ने बिना मुहूर्त के शादी करने का फैसला कर लिया. दोनों में तपेज बाबा के मंदिर में आदर्श विवाह रचाया. शादी के बाद बेहद खुश है दोनो एक साथ. प्रेमी आशीष शादी के बाद अपनी पत्नी को लेकर सीधा अपने माता-पिता के घर पहुचां और परिवार वोलों को उनकी शादी की जानकारी दी.

प्रेमी आशीष के माता-पिता बिना मुहूर्त के शादी करने पर घोर आश्र्चर्य में पड़ गए. इस मामले के कर्इ लोग गवाह बने. शादी के समय प्रेमी के कर्इ दोस्त भी मौजूद थे. यहां दिन भर प्रेमी आशीष और उसकी प्रेमिका पूनम की शादी की चर्चा होती रही. गिद्धौर के रहने वाले उदय दांगी के 23 साल के बेटे आशीष कुमार ने बिना किसी पूर्व प्‍लानिंग के अपनी प्रेमिका पूनम कुमारी से शादी रचाकर एकाएक दुल्हन के साथ घर पहुंच गया.

हालांकि इस शादी मे अच्छी बात यह रही कि आशीष और पूनम की शादी को आशाष के माता-पिता ने खुशी से स्वीकार कर ली और विधि-विधान व वैवाहिक रस्‍म-रिवाजों के साथ घर में गृह-प्रवेश करवाया. खैर प्रेमी और प्रेमिका दोनों बालिग हैं. उनके बीच करीब पांच साल से प्रेम प्रसंग चला आ रहा था.

PF Tax Rule Amended : पीएफ धारकों के लिए सरकार ने किया का बड़ा ऐलान, अब इतने लाख तक नहीं लगेगा टैक्स

Ayodhya Ram Mandir: राम मंदिर की खुदाई के दौरान मिलीं, प्राचीन कलाकृतियां,सिलबट्टे और खंडित मूर्तियां

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर