रांची. झारखंड चुनाव नतीजों के रुझानों से साफ है राज्य में कांग्रेस-जेएमएम और राजद महागठबंधन सरकार बनाएगा. पूर्व सीएम हेमंत सोरेन एक बार फिर राज्य में मुख्यमंत्री पद संभालेंगे. सत्ताधारी बीजेपी के लिए चुनाव का रिजल्ट बड़ा झटका होगा. इससे पहले भी महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा को सरकार बनाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी. हरियाणा में तो जुगाड़ से सफलता मिल गई लेकिन महाराष्ट्र में सरकार नहीं बनी. खास बात है कि केंद्र में पीएम नरेंद्र मोदी जैसा कद्दावर नेता भाजपा के पास है लेकिन विधानसभा चुनाव में कुछ फायदा नहीं मिल रहा.

पीएम नरेंद्र मोदी ने साल 2014 के बाद साल 2019 की लोकसभा में बड़ी जीत हासिल की. देश में मोदी-मोदी के नारे लगे. लोकसभा में बीजेपी की प्रचंड जीत को देखकर कोई भी कह सकता है कि पूरे देश में भाजपा की स्थिति काफी मजबूत है लेकिन सच में ऐसा है नहीं. पीएम नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल से लेकर अब तक अगर बीजेपी ने यूपी जैसे बड़े राज्यों में प्रचंड जीत भी हासिल की तो मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्य खो दिए. इनके साथ-साथ छत्तीसगढ़ और अब झारखंड भी नहीं रहा.

क्यों नहीं चल रहा मोदी मैजिक

जब लोकसभा के लिए लोग वोटिंग करने जाते हैं तो उनके मन में पूरे देश के विकास के लिए मुद्दे होते हैं जिन्हें ध्यान में रखते हुए ही मतदान किया जाता है. साल 2019 में पीएम नरेंद्र मोदी भारत के सबसे लोकप्रिय नेता बने रहे. उनका पहला कार्यकाल देखते हुए लोगों ने उन्हें एक बार फिर प्रधानमंत्री बनाया. लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि मोदी को वोट करने वाली जनता राज्य में भी बीजेपी को वोट दे.

दरअसल हर एक राज्य में अलग-अलग मुद्दे हावी हैं. साल 2017 में उत्तर प्रदेश में राम मंदिर का मुद्दा हावी था जिसका फायदा भाजपा को मिला और बहुमत से सरकार बन गई लेकिन साल 2018 में मध्य प्रदेश और राजस्थान में मंदिर पॉलिटिक्स शायद नहीं चली और कांग्रेस को जीत मिल गई. गुजरात में भी बीजेपी को कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिली, कर्नाटक में भी बीजेपी को बहुमत नहीं मिली. हालांकि, अब इन दोनों राज्यों में बीजेपी की ही सरकार है.

छत्तीसगढ़ चुनाव 2018 के दौरान भी का आदिवासी समुदाय से बीजेपी से नाराज दिखा था जिसका नुकसान भाजपा को मिला. मेरे कहने का मतलब है कि हर एक राज्य में छोटे-छोटे कई ऐसे मुद्दे हैं जिन्हें देखकर लोग वोट करते हैं. ऐसे में अगर भविष्य में भी बीजेपी सिर्फ पीएम मोदी के नाम पर वोट बटोरने की कोशिश करेगी तो उसके लिए जीतना मुश्किल ही होगा.

Jharkhand Assembly Election Results 2019 Winners Complete List Live: झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 फुल विनर्स लिस्ट, बीजेपी झामुमो कांग्रेस राजद झाविमो आजसू समेत अन्य पार्टी के विजेता उम्मीदवारों की पूरी लिस्ट

Ranchi Election Results 2019 Live Updates: रांची विधानसभा सीट पर BJP के चंद्रेश्वर प्रसाद सिंह 6706 वोटों से आगे, JMM की महुआ मांझी पीछे

One response to “Jharkhand Assembly Election Result 2019: झारखंड की सत्ता से बाहर बीजेपी, लोकसभा में सबको धूल चटाने वाले पीएम नरेंद्र मोदी राज्यों के विधानसभा चुनावों में क्यों फेल हो रहे ?”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App