पटना. बिहार में सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के कटिहार जिला महासचिव मोहम्मद खुशदिल की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी. यह घटना कटिहार के रामपुर गांव स्थित उनके घर के पास हुई. पुलिस ने कहा कि राजनीति में सक्रिय होने के अलावा, खुशदिल का बालूगंज चौक के पास अपना बिजनेस भी है और वह कथित तौर पर शराब की स्मग्लिंग का धंधा भी चलाते थे.

इस इलाके की सीमा पश्चिम बंगाल से सटी हुई हैं. पुलिस ने कहा, खुशदिल अपने घर लौट रहे थे. अचानक हथियारबंद अपराधियों ने उन्हें रोका और उन पर गोलियां चला दीं. उनकी मौत मौके पर ही हो गई. इसके बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, जहां पहले से ही भीड़ जमा थी. 5 घंटे के बाद पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए कटिहार सदर अस्पताल भेजा. एक पुलिस अफसर ने कहा, ”पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है और जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा. दो लोगों को हिरासत में ले लिया गया है.”

पुलिस सूत्रों ने कहा कि वह इस मामले की हर मुमकिन एंगल से जांच कर रही है क्योंकि हत्या बिजनेस में बदला या राजनीतिक कारणों से भी हो सकती है. कहा जाता है कि खुशदिल जहरीली शराब बिहार-बंगाल बॉर्डर से सटे इलाकों में स्मग्लिंग करने में शामिल था. पुलिस ने कहा कि पंचायत के एक सदस्य का नाम भी सामने आ रहा है और वे एफआईआर दर्ज कराए जाने का इंतजार कर रहे हैं.

पुलिस अफसर ने कहा, ”एक साल पहले पुलिस ने खुशदिल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. वह पुलिस कस्टडी से जबरन एक शराबी को छुड़ाने की कोशिश कर रहा था.” अप्रैल 2016 में बिहार में शराबबंदी के बाद खुशदिल ने स्थानीय पुलिसवालों और नेताओं के साथ मिलकर शराब की स्मग्लिंग कर खूब पैसा कमाया. जेडीयू के अन्य नेता इस घटना पर चुप्पी साधे हुए हैं. एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है और पार्टी केस में प्रगति से खुश है.

Bihar Govt DA Hike: बिहार सरकार ने कर्मचारियों को दी बड़ी सौगात, तीन प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाए जाने को मंजूरी

PM Narendra Modi Attacks Congress: पीएम नरेंद्र मोदी का कांग्रेस पर हमला- बोले चौकीदार देश की सेवा में लगा है, हर भारतीय कह रहा- मैं भी चौकीदार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App