श्रीनगर. आर्टिकल 370 कमजोर करने और जम्मू कश्मीर व लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले से फैले तनाव के बाद हालात धीरे-धीरे सामान्य होने शुरू हो गए हैं. शनिवार को घाटी के कई इलाकों में लैंडलाइन फोन सेवाएं बहाल की गई.  जम्मू में 2 जी स्पीड के साथ इंटरनेट सेवा भी शुरू हो गई है. हालांकि, कश्मीर में इंटरनेट सेवा शुरू होने में समय लग सकता है. नरेंद्र मोदी सरकार के इस कदम के बाद सुरक्षा के मद्देनजर घाटी में सैन्य बल बढ़ाकर स्कूल भी बंद कर दिए गए थे जो सोमवार से फिर शुरू होने जा रहे हैं.

जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने प्रेस वार्ता कर बताया कि अब हालात सामान्य हो रहे हैं. घाटी के 35 इलाकों की सुरक्षा में ढील दी गई है, साथ ही यातायात सामान्य करने के लिए सार्वजनिक परिवहन सेवा भी शुरू कर दी है. रोहित कंसल ने बताया कि कश्मीर की 96 में से 17 टेलीफोन एक्सचेंज शुरू कर दी गई हैं. जम्मू के अलावा कठुआ, सांबा, उधमपुर क्षेत्रों में भी 2जी इंटरनेट सेवाएं शुरू कर दी हैं. वहीं राजौरी क्षेत्र में सुरक्षा को कम करते हुए धारा 144 में ढील दी है. रजौरी में रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक धारा 144 लागू रहेगा.

पिछले पांच अगस्त से जम्मू कश्मीर में टेलीफोन सेवाएं बंद हैं. धारा 370 के दो खंड हटाने के बड़े फैसले के बाद केंद्र सरकार ने सुरक्षा के मद्देनजर फोन और इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी थी. करीब 12 दिनों से जम्मू कश्मीर की आम सेवाएं करीब करीब बंद थे. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो प्रशासन ने सोमवार 19 अगस्त से सभी स्कूल-कॉ़लेजों और सरकारी दफ्तरों को वापस खोलने के निर्देश दिए हैं.

Syed Akbaruddin on Article 370 in United Nations: संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन बोले- आर्टिकल 370 भारत का अंदरुनी मामला, पाकिस्तानी पत्रकार को दिया करारा जवाब

Lucknow Hazratganj Chaurah Is Now Atal Chowk: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर बदला गया लखनऊ के हजरतगंज चौराहे का नाम, अब अटल चौक के नाम से जाना जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App