श्रीनगरः राइजिंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की हत्या में पाकिस्तान का हाथ होने का खुलासा हुआ है. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बुखारी के तीनों हत्यारों की पहचान कर ली है. इनमें से एक पाकिस्तान का रहने वाला बताया जा रहा है. पुलिस सूत्रों की मानें तो पाकिस्तानी युवक का नाम नावीद जट्ट है. नावीद के तार आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से भी जुड़े हैं. अन्य दो हमलावर दक्षिण कश्मीर के रहने वाले बताए जा रहे हैं.

पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि बुखारी हत्याकांड को सुलझा लिया गया है. तीनों हमलावरों की शिनाख्त कर ली गई है. बुखारी की हत्या में शामिल पाकिस्तानी नागरिक नावीद जट्ट इसी साल 6 फरवरी को श्रीनगर के एक अस्पताल से पुलिस हिरासत से भाग निकला था. जिसके बाद से वह फरार चल रहा था. पुलिस सूत्रों के अनुसार, बुखारी की हत्या को पूरी प्लानिंग से अंजाम दिया गया.

हत्या से कुछ दिनों पहले उनके घर और दफ्तर की रेकी भी की गई थी. पुलिस जल्द प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हत्याकांड का खुलासा करेगी. तीनों हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें सघन अभियान चला रही हैं. बता दें कि इससे पहले पुलिस ने एक संदिग्ध को भी इस मामले में गिरफ्तार किया था. ये शख्स बुखारी के दोनों मोबाइल फोन और उनके गार्ड की पिस्टल लेकर फरार हो गया था.

आरोपी नशे का आदी बताया जा रहा है. पुलिस ने बुखारी के खिलाफ लिखने वाले एक ब्लॉगर की भी पहचान की है. कश्मीरी मूल का यह शख्स वर्तमान में पाकिस्तान में है और वहीं से ब्लॉग चला रहा है. बताते चलें कि बीते 14 जून को शुजात बुखारी और उनके दो गार्ड्स की उनके दफ्तर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उस समय वह इफ्तार पार्टी में शामिल होने जा रहे थे. तीन बाइक सवार हमलावरों ने वारदात को अंजाम दिया था.

शुजात बुखारी और सेना के जवान औरंगजेब की हत्या के बाद सूबे के कई हिस्सों में सरकार के खिलाफ काफी आक्रोश देखने को मिला. जिसके कुछ दिनों बाद बीजेपी ने महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस ले लिया. फिलहाल जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू है.

राइजिंग कश्मीर के एडीटर शुजात बुखारी की हत्या में लश्कर आतंकी नावेद का हाथ

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App