Thursday, December 1, 2022

जामा मस्जिद में लड़कियों के प्रवेश पर रोक लगाने पर बढ़ा बवाल तो PRO ने दी सफाई

नई दिल्ली. दिल्ली के जामा मस्जिद में लड़कियों को घुसने से रोकने पर बवाल खड़ा हो गया है. इस मामले में विश्व हिन्दू परिषद ने हैदराबाद के सांसद ओवैसी से सवाल भी किया है, दरअसल, जामा मस्जिद में लड़कियों के प्रवेश रोकने को लेकर वीएचपी प्रवक्ता विनोद वंसल ने ओवैसी को भड़काऊ भाईजान कहते हुए कटाक्ष किया और कहा कि वह तो मुस्लिम लड़कियों को प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंचाने की बात करते हैं और उन्हीं लड़कियों को मस्जिद में घुसने से रोकते हैं. हालांकि जामा मस्जिद प्रबंधन के इस फरमान की आलोचना मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के प्रवक्ता शाहिद सईद ने भी की है उनका कहना है कि इस तरह की मानसिकता ही गलत है. इस मामले को लेकर अब विवाद बढ़ता ही जा रहा है. इस मामले में महिला आयोग ने जमा मस्जिद प्रबंधन को नोटिस भी जारी कर दिया है. वहीं अब जमा मस्जिद में महिलाओं के प्रवेश पर रोक लगाने को लेकर मस्जिद के PRO अधिकारी ने सफाई दी है.

मस्जिद प्रशासन ने क्या कहा

इस मामले में बवाल बढ़ता देख जामा मस्जिद के PRO अधिकारी ने सफाई देते हुए कहा कि मस्जिद में महिलाओं पर किसी तरह की कोई रोक नहीं लगाई गई है. हमारा कहना तो ये था कि जब लड़कियां अकेले आती हैं तो यहाँ गलत काम होते हैं और वीडियो बनाए जाते हैं. इसलिए मस्जिद में परिवार या फिर शादी-शुदा जोड़ों पर कोई रोक नहीं लगाई गई है, बल्कि हमारा कहना ये है कि इसे मीटिंग पॉइंट न बनाया जाए.

गौरतलब है, इस मामले में जामा मस्जिद की RWA के जनरल सेक्रेटरी मोहम्मद सलमान ने कहा कि बोर्ड में कुछ गलती थी और अब इस मामले को लेकर शाही इमाम से बात की जा रही है और समय रहते इस गलती को ठीक भी कर दिया जाएगा. हालांकि, उन्होंने इसमें ये साफ़ नहीं किया है कि वो किस गलती की बात कर रहे हैं. बता दें, बवाल बढ़ने से पहले मस्जिद प्रशासन के पीआरओ की तरफ से कुछ अलग ही बयान दिया गया था. तब पीआरओ ने कहा था कि यहाँ अकेली लड़कियां आती हैं तो गलत हरकतें करती हैं, वीडियो बनाती हैं, इसलिए इन चीज़ों को रोकने के लिए ये फैसला लिया गया है.

 

 

गलवान पर ऋचा चढ्ढा का विवादित ट्वीट, भड़की बीजेपी बोली- ‘थर्ड ग्रेड एक्ट्रेस पर केस दर्ज हो’

Gujrat: क्या BJP के पास खत्म हो गए हैं मुद्दे?भारत जोड़ो यात्रा में मेधा पाटकर को लेकर हमलावर पीएम

Latest news