देहरादून. उत्तराखंड में हो रहे इंडिया न्यूज के विशेष कार्यक्रम ‘मंच’ में राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड संभावनाओं का प्रदेश है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की सबसे ज्यादा खूबसूरती मानव संसाधन हैं. उत्तराखंड ऑर्गेनिक उत्पाद का प्रदेश है. उन्होंने कहा कि यहां लोगों को जन्म से ही पर्यावरण से प्रेम है. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आगे कहा कि उत्तराखंड पर्यटन से लेकर धार्मिक आस्था का केंद्र है. यह शिक्षित लोगों का प्रदेश है, यहां लोगों को सुविधा और सुरक्षा है. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में उत्तराखंड काफी आगे बढ़ा है. शिक्षा के छेत्र में उत्तराखंड नंबर 1 राज्य है.

उत्तराखंड में बीजेपी सरकार के कार्य को लेकर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हमारी सरकार ने 2020 के लिए 5 लक्षय चुने हैं. हमें करप्शन नाम के कीड़े को राज्य से खत्म करना है. उन्होंने कहा कि हमने भ्रष्टाचार पर अंकूश लगाया है. जेल जाने के डर से लोग पैसा वापस कर रहे हैं. वहीं सीएम त्रिवेंद्र ने पलायन मुद्दे को लेकर भी बातचीत की. उन्होंने कहा कि पलायन अगर विकास के लिए है तो अच्छी बात है. सीमा पर सैनिकों के साथ स्थानीय लोगों को रहना बहुत जरूरी है. लोगों के रहने से सैनिकों का मनोबल बढ़ता है.

वहीं आपदा के मामलों पर त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि आपदा में सबसे बड़ी बाधा संचार का रुक जाना है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने डेंजर जोन को चिन्हित करने का काम किया है. हमने सैटेलाइट्स की संख्या बढ़ाई है. इसके साथ ही राज्य में आपदा प्रबंधन मंत्रालय बनाया गया है. त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि राज्य के हर एक जिले में 3 से 4 सैटेलाइट फोन हैं. इसके साथ ही त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बताया कि मेडिकल क्षेत्र में हमारी सरकार ने अच्छा काम किया है. हालांकि पनबिजली के क्षेत्र में एनजीटी सबसे बड़ी बाधा बना हुआ है. आगे उन्होंने कहा कि उर्जा के श्रेत्र में हमारा हर गांव आगे. हमने सभी गावों को सड़क से जोड़ने का काम किया है.

उत्तराखंड मंच: कांग्रेसी नेता हीरा सिंह बिष्ट बोले, राज्य में बीजेपी सरकार बहुमत में होने के बावजूद विकास इतना धीमा क्यों?

India News Maharashtra Manch: इंडिया न्यूज के कार्यक्रम महाराष्ट्र मंच में बोले मधुर भंडारकर- पॉलिटिक्स पर फिल्म नहीं बनाऊंगा