Wednesday, December 7, 2022

एमसीडी चुनाव 2022 नतीजे

एमसीडी चुनाव  (250 / 250)  
BJP - 104
CONG - 09
AAP - 134
OTH - 03

लेटेस्ट न्यूज़

Time मैगज़ीन के पर्सन ऑफ द ईयर बने यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की

0
नई दिल्ली : यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की को विश्व प्रसिद्ध पत्रिका टाइम ने पर्सन ऑफ द ईयर 2022 बनाया है. बता दें, हर साल...

उत्तराखंड : कोर्ट ने Facebook पर लगाया 50 हजार का जुर्माना, जानिए पूरा मामला

0
नैनीताल : बुधवार (7 दिसंबर) को नैनीताल हाईकोर्ट ने फेसबुक पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है. ये जुर्माना सही समय पर जवाब दाखिल...

हैदराबाद : देह व्यापर में धकेली जा रही थीं 14 हज़ार लड़कियां, ऐसे पकड़ा...

0
Hyderabad: हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस को देह-व्यापर के गोरकधंधे में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पुलिस ने वेश्यावृत्ति का राजफास करते हुए 17...

In Up 14 Doctors Resigned : उत्तर प्रदेश के उन्नाव में कोविड ड्यूटी कर रहे 14 डॉक्टरों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, अफसरशाही को बताया वजह

लखनऊ. राजधानी लखनऊ से महज 40 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के उन्नाव में चौदह सरकारी डॉक्टरों जो जिले के ग्रामीण अस्पतालों के प्रभारी हैं. उन्होंने अपने पदों से यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया है कि उन्हें जिले में कोविड संक्रमण के कारण बलि का बकरा बनाया जा रहा है. डॉक्टर उन्नाव में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों के प्रभारी हैं. ये दोनों स्थान ग्रामीण अस्पताल हैं जो गांवों को अग्रिम स्वास्थ्य सेवा प्रदान करते हैं.

संयुक्त इस्तीफे पत्र पर हस्ताक्षर करने वाले 14 डॉक्टरों में से ग्यारह ने बुधवार शाम को उन्नाव के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय का दौरा किया और अपने डिप्टी को पत्र सौंपा. डॉक्टरों का कहना है कि महामारी में कड़ी मेहनत करने के बावजूद, बिना किसी आधार के डॉक्टरों पर दंडात्मक कार्रवाई और बुरा व्यवहार किया जा रहा है.

“समस्या यह है कि हमारी टीमें चौबीसों घंटे काम कर रही हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि हमें ‘काम नहीं करने’ के लिए चिन्हित किया जा रहा है. डीएम, अन्य अधिकारी, यहां तक ​​कि एसडीएम और तहसीलदार सभी हमारी देखरेख कर रहे हैं और समीक्षा बैठकें कर रहे हैं.” दोपहर को छुट्टी पर जाएं, कोविड पॉजिटिव मरीज़ों को ट्रैक करें और अलग-थलग करें, सैंपलिंग करवाएं, दवाइयां वितरित करें और फिर, एक बार जब हम वापस आ जाएं, तो हमें एसडीएम से कॉल मिलेंगी कि वे रिव्यू मीटिंग के लिए आएं. भले ही कोई व्यक्ति 30 किमी दूर तैनात हो, वह या वह इन समीक्षा बैठकों के लिए सभी 30 किमी की यात्रा करने के लिए बाध्य होना होगा. हमें यह साबित करना होगा कि हमने काम किया है. ऐसा लगता है कि यह सुझाव दिया जा रहा है कि क्योंकि हम काम नहीं कर रहे हैं, कोविड संक्रमण फैल रहा है.

देर रात बयान में मीडिया को एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने  कहा कि चीजों को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. जिला मजिस्ट्रेट रवींद्र कुमार ने कहा, “हम डॉक्टरों से बात कर रहे हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय ने उनसे बात की है और हम समस्या का हल ढूंढेंगे. वे हमारी टीम का हिस्सा हैं. वे अजनबी नहीं हैं.

उन्नाव में इस समय 1,980 सक्रिय कोविड मामले हैं और बुधवार शाम को 84 ताजा मामले और शून्य नई मौतें हुई हैं. उसी दिन, जिले में गंगा द्वारा दो स्थानों पर कई शव बहते हुए दिखे. दोनों स्थानों के मोबाइल फोन के दृश्यों में स्थानीय लोगों के कई दबे हुए शरीर दिख रहे थे. अधिकांश शव केसरिया कपड़े में लिपटे हुए थे.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश ने पिछले 24 घंटों में 18,023 नए सीओवीआईडी ​​-19 मामले दर्ज किए. इसके साथ ही 326 कोविड रोगियों की मृत्यु हुई. यह भारत में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों की सूची में चौथे स्थान पर है.

Eid-ul-Fitra 2021 : बुधवार को नजर नहीं आया चांद, शुक्रवार को देशभर में मनाई जाएगी ईद

50 Covaxin Workers Tested Covid Positive : कोवैक्सीन बनाने वाले 50 कर्मचारी हुए कोरोना पॉजिटिव, लोगों ने पूछा- क्या वैक्सीन लगने के बाद भी हुए पॉजिटिव या वैक्सीन ही नहीं लगाई गई

Latest news