कोलकाताः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के विश्वासपात्र माने जाने वाले एक शाही इमाम नूर-उर-रहमान बरकती ने भारतीय जनता पार्टी को लेकर विवादित बयान दिया है. उन्होंने शनिवार को कहा कि पार्टी (बीेजेपी) जब उन जैसे (मुस्लिम नेताओं) को पैसा देती है तब तक वह भाजपा के लिए रैली कर सकते हैं. अंग्रेजी टीवी चैनल टाइम्स नाऊ द्वारा किए गए स्टिंग में बरकती ने ये बात कही और उसके बाद संडे एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान भी यही बात दोहराई. बता दें कि स्टिंग का वीडियो बीते शुक्रवार को ऑन एयर किया गया था.

इसमें बरकती ने कहा कि मुसलमान लोगों के वोटों पैसों को जरिए बदला जा सकता है. बंगाल में मुसलमानों का भावना बदल गई है. उन्होंने कहा कि अंदर ही अंदर यहां की जनता बीजेपी को प्यार करने लगी है. भाजपा अगर पांच करोड़ रुपये दे तो पांच लाख मुस्लिम वोटों का इंतजाम कर सकता हूं. राज्य में भारतीय जनता पार्टी 22 सीटों का लक्ष्य रख रही है. मगर मेरा माना है कि पार्टी 28 सीटें जीतेगी. उन्होंने कहा कि अगर पिछले चुनाव में मुसलमानों ने ममता को वोट नहीं दिया होता को वे क्या कर लेतीं. उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी मुझे पैसे दो तो मैं पार्टी के लिए मुस्लिमों की रैलिया निकालूंगा.

वहीं स्टिंग के मसले पर जब संडे एक्सप्रेस ने उनसे बात की तो उन्होंने फिर वही बात दोहराई और कहा कि सबसे बड़ा इमाम पैसा है और बीजेपी के पास वो है. अगर वह बंगाल में पैसा करें तो देखें कि कैसे मुस्लिम वोट उनके पक्ष में जाते हैं. कुछ भी मुफ्त में नहीं आता. उन्होंने कहा कि मैं आसानी से मुसलमानों का वोट भाजपा को दिलवा सकता हूं लेकिन इसके लिए बीजेपी को पैसा खर्च करना होगा.

यह भी पढ़ें- ममता बनर्जी के सिविल वॉर वाले बयान पर पीएम नरेंद्र मोदी का जवाब, बोले- देश की आत्मा से कट चुके हैं ऐसे लोग

बंगाल में बोले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बांग्लादेशी घुसपैठिए हैं ममता बनर्जी की टीएमसी के वोट बैंक