हैदराबादः करीब एक हफ्ते पहले हैदराबाद में निजाम के म्यूजियम से निजाम का सोने का टिफिन और चाय का कप चोरी हो गया था. इस हाई-प्रोफाइल चोरी की वारदात से हैदराबाद पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई. आनन-फानन में पुलिस की 15 स्पेशल टीमों का गठन किया गया. चोरों की तलाश में पुलिस आसपास के सभी राज्यों में दबिश दे रही थी. आखिरकार टास्क फोर्स को कामयाबी मिली और मुंबई में चोरों को दबोचते हुए बेशकीमती सामान को बरामद कर लिया गया. पुलिस ने इसके खुलासे के दौरान बताया कि निजाम के सोने के टिफिन में चोर हर रोज खाना खाते थे.

पुलिस ने दोनों चोरों को गिरफ्तार कर लिया है. हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार ने केस की जानकारी देते हुए बताया कि दो सितंबर की रात को वेंटिलेटर शाफ्ट के रास्ते से दोनों चोर निजाम संग्रहालय में घुसे थे. निजाम के सोने के टिफिन और चाय के कप चुराने के बाद वह लोग सोने के कवर वाली कुरान चुरा ही रहे थे कि तभी अजान होने लगी और उन्होंने कुरान को हाथ भी नहीं लगाया. टिफिन और कप लेकर वह वहां से भाग निकले.

पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया और टास्क फोर्स ने दोनों चोरों को मुंबई के एक फाइव स्टार होटल से पकड़ लिया. उनके पास से टिफिन और कप बरामद कर लिए गए हैं. बताया जा रहा है कि चोर टिफिन और कप का करीब एक करोड़ रुपये में सौदा करने जा रहे थे. बताया जा रहा है कि अगर चोर अंतरराष्ट्रीय बाजार में इन्हें बेचते तो उन्हें इसके करीब 80 से 100 करोड़ रुपये मिल सकते थे.

पुलिस ने बताया कि इस वारदात का मास्टरमाइंड 25 साल का गौस एक शातिर अपराधी है. उस पर लूटपाट और डकैती के करीब 26 मामले दर्ज हैं. गौस और उसका साथी चोरी की वारदात को अंजाम देने से पहले 6 से 7 बार संग्रहालय की रेकी कर चुके थे. आरोपियों ने म्यूजियम में 30 से ज्यादा लगे कैमरों से बचते हुए बड़े ही शातिराना अंदाज में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था. अन्य इलाकों में लगे सीसीटीवी और सर्विलांस की मदद से आखिरकार पुलिस उन्हें पकड़ने में कामयाब रही.

शर्मनाक: बिहार में मोबाइल चोरी के आरोप में युवक की बेरहमी से पिटाई, चटवाया थूक