शिमला.हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से कोरोना महामारी की दूसरी भयंकर लहर को देखते हुए सभी परीक्षाओं को पूरी तरह से रद्द कर दिया गया था. इसके बाद स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से दसवीं व 12वीं के छात्रों को प्रमोट कर दिया गया है। स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से छात्रों को सर्टिफिकेट में प्रमोट न लिखकर सात विभिन्न वर्गों के आधार पर रिजल्ट तैयार किया जा रहा है।

5 जुलाई सुबह 11:30 बजे शिक्षा बोर्ड ने दसवीं का रिजल्ट जारी करने की घोषणा की थी, लेकिन शिमला हाई कोर्ट में एक छात्र द्वारा बनाए जा रहे रिजल्ट को लेकर अपील दायर है. जिसके चलते शिक्षा बोर्ड को अचानक से ही रिजल्ट रोकना पड़ा. ऐसे में हिमाचल प्रदेश के 1 लाख 31000 छात्रों को शिक्षा बोर्ड का रिजल्ट नहीं मिल पाया. एक छात्र द्वारा कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जाने के बाद रिजल्ट पर पूरी तरह से ब्रेक लग गया है।

स्कूल शिक्षा बोर्ड की पीआरओ अंजू पाठक ने बताया कि हाईकोर्ट में इस संबंध में मामला चल रहा है. जैसे ही वहां से दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे तो छात्रों का दसवीं का रिजल्ट, तैयार कर लिया गया है, जल्द ही जारी कर दिया जाएगा।

Pak blames RAW for blast outside Hafiz Saeed Home: आतंकी हाफिज सईद के घर के बाहर हुए बम धमाके में पाकिस्तान ने बताया रॉ का हाथ, कहा- हमारे पास है सबूत

UP Unlock: यूपी में आज से खुलेंगे सिनेमाहॉल, जिम और स्टेडियम, जानें क्या होंगे नियम