नई दिल्ली. हेमंत बिस्वा सरमा इन दिनों चर्चा में हैं। उन्होंने सोमवार 10 मई 2021 को असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। हेमंत के लिए मुख्यमंत्री पद इसलिए भी अहम है क्योंकि पहले वो कांग्रेस पार्टी में थे, बाद में उन्होंने बीजेपी जॉइन कर ली। उनकी मेहनत और लगन के दम पर पार्टी ने उन्हें ये जिम्मेदारी सौंपने का फैसला किया।

सीएम हेमंत का जितना रोचक सफर राजनीति में रहा है इतना ही निजी जीवन भी रहा है। हेमंत बिस्वा सरमा की पत्नी ने स्वीकारा है कि हेमंत को पहले से ही यकीन था कि एक दिन वो मुख्यमंत्री बनेंगे।

‘एक दिन बनूंगा मुख्यमंत्री’

मीडिया से बातचीत के दौरान हिमंत की पत्नी रिनिकी भुयन ने बताया कि ये उस वक्त की बात है जब हिमंत कॉटन कॉलेज में पढ़ते थे। वे उस वक्त से ही मुख्यमंत्री बनने को लेकर आश्वस्त थे। रिनिकी बताती हैं कि जब वो 17 साल की थी तो उनकी मुलाकात 22 साल के हेमंत से हुई। हेमंत शुरू से ही अपने भविष्य को लेकर साफ थे। उन्हें पता था कि आगे चलकर वो राजनीति में ही अपना कैरियर बनाएंगे।

हेमंत बिस्वा की शादी लव मैरिज हुई है। रिनिकी बताती हैं कि जब मैंने उनसे शादी की बात की और पूछा कि जब मेरी मम्मी पूछेंगी कि लड़का क्या करता है तो मैं क्या जवाब दूंगी। ये सुनकर हेमंत का जवाब था, “उनसे कह देना कि मैं एक दिन असम का मुख्यमंत्री बनूंगा।”

30 साल बाद बने सीएम

हेमंत ने जब रिनिकी से सीएम बनने की बात कही तब वो महज 22 साल के थे। इसके बाद ठीक 30 साल बाद वो असम के 15वें मुख्यमंत्री बने। रिनिकी बताती हैं कि, जब उनकी हिमंत से शादी हुई उस वक्त वे विधायक थे। लेकिन वे लगातार आगे बढ़ते गए और इसके बाद वे मंत्री बने और आज वे मुख्यमंत्री बन चुके हैं, लेकिन मुझे विश्वास नहीं हो रहा है। रिनिका और हेमंत बिस्वा सरमा के दो बच्चे हैं। जहां हेमंत राजनीति में हैं वहीं रिनिकी भुइयां एक सफल उद्यमी हैं।

App Crashed : छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन शराब मंगाने वालों की बाढ़, लोगों ने खरीदी 4 करोड़ से ज़्यादा की शराब, पहले ही दिन क्रैश हुआ ऐप

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर