हिमाचल प्रदेश. हिमाचल और मनाली के कई इलाकों में मौसम ( Himachal Weather ) ने करवट ली है. यहाँ आसमान में काले बदल छाए हुए हैं इसके साथ ही बर्फ़बारी और बारिश का माहौल है. इस तरह से अंदाजा लगाया जा सकता है की हिमाचल में बर्फ़बारी का दौर आ गया है.

घाटी में बर्फ़बारी और बारिश को लेकर जारी किया गया अलर्ट

देश में शीत ऋतू ने दस्तक दे दी है. ऐसे में कुछ ऐसे राज्य जहाँ का तामपान आम दिनों में ही शीत लहर का अहसास करवाता है, इन राज्यों के लिए मुश्किलें बढ़ गई है. हिमाचल और मनाली की तमाम घटियों में बदलते मौसम के हालत के चलते भारी बर्फ़बारी और बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. इसके अलावा लाहौल स्पीति के दारचा में भी बर्फ़बारी शुरू हो गई है.

यही वजह है कि इन इलाकों के तामपान में भी तेज़ी से गिरावट आई है. बताया जा रहा है कि प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से शीतलहर बढ़ गई है. इसके अलावा हिमाचल के कई जिलों में आज बारिश और बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी हुआ है. मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाली 6 दिसंबर तक प्रदेश में मौसम इस तरह का ही बना रहने वाला है. मौसम के कहर और शीतलहर के चलते लाहौल और कुल्लू में न्यूनतम तापमान बेहद नीचे जाने से इलाके के कई झील, झरने और नाले जम गए हैं.

रोहतांग दर्रा सैलानियों के लिए हुआ बंद

हिमाचल में मौसम के बदलते करवट और बर्फ़बारी के चलते मनाली प्रशासन ने रोहतांग दर्रा सैलानियों के लिए पहले ही बंद कर दिया है वहीं, लाहुल स्पीति प्रशासन ने भी अब दारचा से आगे जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. लेकिन इस समय सैलानियों के लिए ये लम्हा खुशनुमा साबित हो रहा है. दरअसल, हिमाचजल आए सैलानियों को हमेशा यहाँ होने वाली बर्फ़बारी का बेसब्री से इंतजार रहता है. ऐसे में जो सैलानी इस समय मनाली और हिमाचल की घाटियों में हैं उनके लिए यह सोने पर सुहागा वाली स्थिति बन गई है. अब ये सैलानी घाटी में होने वाली बर्फ़बारी का भी आनंद ले सकेंगे.

यह भी पढ़ें:

Varun Gandhi Questions Government: वरुण गांधी ने एक बार फिर उठाए सरकार पर सवाल, पूछा – आखिर कब तक नौकरी का इंतज़ार करे युवा

Booster dose of Vaccine will Protect Against Omicron वैक्सीन का बूस्टर डोज करेगा ओमिक्रोन से बचाव