शिमलाः हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले की पुलिस ने भ्रष्टाचार रोकने के लिए एक अनोखा निर्देश जारी किया है. जिला पुलिस विभाग ने आदेश जारी किए हैं कि नाका और ट्रैफिक ड्यूटी के दौरान किसी भी पुलिसकर्मी के पास 200 रुपये से ज्यादा कैश नहीं होना चाहिए. इससे अधिक रुपये पाए गए तो उस पुलिसकर्मी पर कार्रवाई की जाएगी. पुलिस अधिक्षक दिवाकर शर्मा ने इस मामले को लेकर पत्र जारी किया है. 

ऊना के पुलिस अधीक्षक का दिवाकर शर्मा का कहना है कि शिकायतें आ रही थीं कि यहां तीर्थयात्रा पर आनेवाले श्रद्धालुओं खासतौर पर पंजाब से आने वाले वाले भक्तों से नाकों पर तैनात पुलिसकर्मी रुपये मांगते हैं. रिश्वत मांगने की इन खबरों को देखते हुए ये फैसला लिया गया है. उन्होंने आगे बताया कि ऊना शक्तिपीठ श्री चिन्तापूर्णी, मां ज्वाला जी और माता कांगड़ा जी के दर्शनों के लिए जाने वाले भक्तों के लिए प्रवेश द्वार है. 

उन्होंने बताया कि यह आदेश कल से जारी किए गए थे जो कि आज से अमल में आ गए हैं. बता दें कि श्रद्धालुओं से रिश्वत मांगने की खबरों को देखते हुए जिला पुलिस ने ये कदम उठाया है,. नए निर्देश के अनुसार पुलिसकर्मी को केवल जेब में 200 रुपये रखने की इजाजत होगी. बता दें कि हिमाचल प्रदेश के ऊना जिलों में यातायात नियमों का पालन करवाने और साथ ही अपराधियों की पकड़ के लिए नाके लगाए जाते हैं लेकिन इसी बीच इन नाकों पर तैनात पुलिसकर्मियों के रिश्वत मांगने की भी खबरें आई थीं. 

यह भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट ने हिमाचल प्रदेश के सरकारी वकील को कहा- एडवोकेट हो या सरकार के चम्मच

बिहारः रिश्वत नहीं दी तो पुलिस ने नंगा कर बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट में डाला पेट्रोल

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App