रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि पीएम ने उन्हें फोन किया लेकिन बात नहीं सुनी और इसके बजाय केवल अपने मन की बात की.

गुरुवार रात एक ट्वीट में, हेमंत सोरेन ने पीएम मोदी पर निशाना साधा और कहा, “आज आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने फोन किया. उन्होंने सिर्फ अपने मन की बात की. बेहतर होता यदि वो काम की बात करते और काम की बात सुनते.”

राज्य में कोविड तेजी से फैल रहा है इसी बीच झारखंड संसाधनों की कमी से जूझ रहा है और उसने कहा है कि उन्हें उम्मीद के मुताबिक सहायता नहीं मिली. झारखंड के स्वास्थ्य सचिव अरुण सिंह ने कहा कि रेमेडिसविर इंजेक्शन की केवल 2,181 शीशियां राज्य को आवंटित की गई हैं. कोई अन्य सहायता हमारे पास नहीं पहुंची है. सिंह ने कहा कि झारखंड बांग्लादेश से रेमेडिसवीर की 50,000 शीशी आयात करना चाहता है, लेकिन अभी तक अनुमति नहीं मिली है.

झारखंड में 1.57 करोड़ लोगों को टीका लगाया जाना है, लेकिन राज्य में वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए 18 प्लस की ड्राइव अभी तक बंद है.

झारखंड रोजाना लगभग 680 टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर रहा है, जबकि इसकी आवश्यकता सिर्फ 80 टन है. लेकिन कंटेनर, वेपोराइज़र और सिलेंडर की कमी है. सीएम हेमंत सोरेन ने गुजरात के सीएम विजय रूपानी और अन्य को मदद के लिए लिखा था, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ.

झारखंड ने गुरुवार को 141 ​​ताजा कोविड -19 की मौत की सूचना दी, जिसमें मरने वालों की संख्या 3,346 थी, जबकि 5,770 ताजा कोविड मामलों ने राज्य के 2,63,115 को धक्का दिया है.

झारखंड सरकार ने कोविड -19 मामलों में वृद्धि के बीच लॉकडाउन जैसी प्रतिबंधों को 13 मई तक बढ़ा दिया है. पहले 22 अप्रैल को “स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह” के रूप में लगाए गए प्रतिबंध गुरुवार को समाप्त होने वाले थे.

Supreme Court on Oxygen Crisis : केंद्र को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, दिल्ली को दी जाए 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन, उससे कम मंजूर नहीं

Delhi Quarantine Guidelines : दिल्ली सरकार का अहम फैसला, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से दिल्ली आने वालों को 14 दिनों का क्वारंटीन जरूरी