रेवाड़ी. हरियाणा में हुए सीबीएसई टॉपर गैंगरेप मामले में एसआईटी ने पहली गिरफ्तारी कर ली है. हालांकि इस वारदात को अंजाम देने वाले तीनों मुख्य आरोपी अभी फरार हैं. गौरतलब है कि पुलिस की गिरफ्त में आरोपी दीनदयाल की पहचान कनीना निवासी की गई है जहां पीड़िता को गैंगरेप के बाद डाला गया था. बता दें कि बीते दिन हरियाणा पुलिस ने इस केस के तीन मुख्य आरोपियों की फोटो भी जारी की थी.

मिली जानकारी के अनुसार, हरियाणा की एसआईटी टीम के हत्थे चढ़ा आरोपी दीन दयाल ने उस ट्यूबवेल का मालिक है जहां आरोपियों ने पीड़िता को अपनी हवस का शिकार बनाया था. उन आरोपियों में पंकज नामक एक आर्मी का जवान भी शामिल है जिसकी वर्तमान में राजस्थान में पोस्टेड है. वहीं अन्य दो आरोपियों में मनीश और नीशु नामक युवक शामिल हैं. बीते दिन हरियाणा पुलिस ने तीनों के फोटो भी जारी किए थे.

बता दें कि 12 सितंबर को रेवाड़ी की रहने वाली 19 वर्षीय पीड़िता महेंद्रगढ़ जिले के कनिना स्थित अपने कोचिंग सेंटर जा रही थी. उसी दौरान आरोपियों ने पीड़िता को उठा लिया और एक ट्यूबवेल पर ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया. इस बात का खुलासा होते ही यह मामला राजनीतिक तूल पकड़ गया. जिसके बाद इस केस की जांच हरियाणा एसआईटी को सौंपी गई. फिलहाल पुलिस तीनों फरार आरोपियों की तलाश कर रही है.

रेवाड़ी: अगवा कर पिलाया नशीला पदार्थ, 8 घंटे तक 12 लोगों ने किया गैंगरेप, फिर घर फोन करके बोले- लड़की को ले जाओ

रेवाड़ी गैंगरेप पर बोलीं बीजेपी विधायक प्रेमलता- बलात्कार की वजह युवाओं की बेरोजगारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App