यमुनानगर. हरियाणा के यमुनानगर से शर्मनाक मामला सामने आया है जहां दो लोगों ने एक 15 वर्षीय नाबालिग दलित लड़की को चलती हुई गाड़ी में हवस का शिकार बना डाला. एक आरोपी पीड़िता का फेसबुक फ्रेंड था जिसनें मिलने के बहाने इस वारदात को अंजाम दिया. आरोपियों ने पीड़िता को कुछ बताने पर जाने से मारने की धमकी भी दी. पीड़िता की मां की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. दूसरा आरोपी अभी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है.

मिली जानकारी के मुताबकि, कुछ समय पहले सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर दलित पीड़िता की दोस्ती एक 37 वर्षीय प्रवीण के साथ हुई थी. प्रवीण पीड़िता से बातचीत करते समय उसे मिलने के लिए बुलाता था. योजना के अनुसार पीड़िता फेसबुक फ्रेंड प्रवीण से मिलने लाल चौक मंदिर पहुंची, जहां पहले से ही प्रवीण और उसका एक दोस्त मौजूद था. आरोपियों ने पीड़िता के साथ चलती हुई गाड़ी में गैंगरेप किया और बीच सड़क छोड़कर भाग निकले. आरोपियों ने पीड़िता को कुछ भी बताने पर जान से मारने की धमकी दी.

हालांकि पीड़िता ने घर पहुंचकर अपने परिजनों को आपबीती सुनाई. पीड़िता की मां शिकायत करने पुलिस के पास पहुंची. पीड़िता की मां ने बताया कि उनकी बेटी इस घटना के बाद से सदमे में आ गई है. पीड़िता की मां की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ पोक्सो एक्ट, एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है. इस मामले के मुख्य आरोपी प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि उसका साथी फरार है जिसकी तलाश चल रही है. पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है.

मध्य प्रदेशः दुष्कर्म के मामले में कोर्ट ने सुनाई 10 साल की सजा, कठघरे से कूदकर फरार हुआ रेपिस्ट

चर्च के पादरियों द्वारा रेप के बढ़ते मामलों पर स्तब्ध सुप्रीम कोर्ट ने कहा- ये खतरनाक चलन है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App