देश में कोरोना की दूसरी लहर भयावह रूप ले चुकी है। रोजाना लोग कोरोना की चपेट में आ रहे है, कोविड से होने वाली मौतों का आंकड़ा लोगों में दहशत फैला रहा है। अस्पतालों में बेड खत्म हो चुके है, ऑक्सीजन की भारी कमी होती जा रही है। मरीज ऑक्सीजन की कमी से अपना दम तोड रहे है। ऑक्सीजन को लेकर डॉक्टर्स पैनिक में है।

कोरोना से मृतकों की संख्या रोजाना स्वायथ्य मंत्रालय जारी करता है, लेकिन वास्तविक में मृतकों का आंकड़ा सरकारी आंकड़ों से बहुत ज्यादा है। विशेषज्ञों का कहना है कि यह संख्या विचलित करती है, फिर भी वायरस के फैलाव की सही स्थिति नहीं दिखाई जाती है। मृतकों का डेटा छुपाने के लिए केंद्र का राज्यों सरकार पर दबाव होता है। इसी मुद्दे को लेकर हाल ही ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने एक बयान दिया जिसमे वो बोले कि शोर मचाने से मरने वाला वापस नहीं आएगा।

दरअसल हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बयान में कहा कि हम पर ये संकट आया है। इस संकट में हमको डाटा के साथ नहीं खेलना है। हमको लोगों को जैसे स्वास्थ्य ठीक हो हम उनको राहत पहुंचा सके। अब जिसकी डेट हो गई है, हमारे शोर मचाने से वापस जीवित तो होता नहीं है। तो इसलिए हम हर संभव पर्यटन करेंगे कि लोगों को सहीं आंकड़े बताए जाए। अब संख्या ज्यादा है या कम है इसे देखने की जरूरत नहीं है। हमे अपनी व्यवसाय देखनी है कि हम कर पा रहे है या नही। ऐसी महामारी आएगी किसी को पता था, किसी को नही पता था। इस महामारी से निकलने में सबका सहयोग चाहिए।

बता दें कि बीते दिनों हरियाणा में 11 हजार 504 लोग कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आ गए और 75 मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही प्रदेश में मृतकों की संख्या 3842 पहुंच गई है जिनमें 2540 पुरुष और 1301 महिलाएं हैं। इसके अलावा 1308 लोगों की हालत चिंताजनक बनी हुई है जिनमें 1154 मरीज आक्सीजन तथा 154 लोग वेंटिलेटर पर हैं। प्रदेश में फिलहाल 79 हजार 466 एक्टिव केस हैं।

 

Corona Cases in India: पिछले 24 घंटों में 3.23 लाख नए कोरोना केस मिले, 2,771 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जो बिडेन से की फोन पर बात

Covid Patient Marriage : अनोखी शादी, कोरोना पॅाजिटिव दूल्हे ने पीपीई किट पहनकर लिए सात फेरे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर