जींदः हरियाणा के जींद में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में 15 फरवरी यानी गुरुवार के दिन बाइक रैली का आयोजन किया गया है. रैली के मद्देनजर हरियाणा प्रशासन हाई अलर्ट पर है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर स्वयं सुरक्षा व्यवस्थाओं को देख रहे हैं. बुधवार को खट्टर अंतिम दौर में चल रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए खुद बाइक चलाकर रैली स्थल पर पहुंचे. इस दौरान खट्टर से एक चूक हो गई. दरअसल जिस बुलेट बाइक से वह वहां पहुंचे उसपर टेंपरेरी नंबर भी मौजूद नहीं था.

बुधवार को जब सीएम मनोहर लाल खट्टर ने जींद की सड़कों पर बाइक दौड़ाई तो हर कोई उन्हें एक पल के लिए देखता ही रह गया. तस्वीर में आप साफ देख सकते हैं कि खट्टर जिस बाइक को चला रहे हैं उसपर नंबर नहीं लिखा है. इंडियन मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कोई भी बाइक एजेंसी से बाहर बिना नंबर नहीं निकलनी चाहिए. अगर ऐसा होता है तो बाइक पर टेंपरेरी नंबर लिखा होना जरूरी है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता रैली में शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं से अपील कर रहे हैं कि वह बाइक से रैली में आते समय यातायात नियमों का पालन करें लेकिन मुख्यमंत्री खुद नियम तोड़ बैठे.

गौरतलब है कि बीजेपी चीफ अमित शाह की रैली के दिन बीजेपी सरकार से नाखुश जाट संगठन ने भी जींद में ही अपनी रैली किए जाने का ऐलान किया था. टकराव की आशंका को देखते हुए हरियाणा की खट्टर सरकार जाटों से बातचीत कर बीच का रास्ता निकालने में जुटी हुई थी. दरअसल जाट संगठनों की मांग थी कि सरकार जाट आंदोलन के दौरान दर्ज किए गए केस वापस ले. सरकार ने जाटों की मांग मानते हुए आरोपियों पर से केस वापस लेने का फैसला किया और जाटों ने अपनी रैली रद्द कर दी. दूसरी ओर अमित शाह की रैली के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि रैली की सुरक्षा के लिए 8 एसएसपी, 55 डीएसपी की ड्यूटी रहेगी. इसके अलावा 200 इंस्पेक्टर, 5500 पुलिस कर्मचारी और 250 महिला पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी भी लगाई गई है. पैरामिलिट्री और सीआरपीएफ की कंपनी भी मौके पर रहेंगी.

दिल्ली जल संकटः हरियाणा की खट्टर सरकार का पानी छोड़ने से इनकार, NGT ने जारी किया नोटिस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App