अहमदाबादः पाटीदार समुदाय के आरक्षण और किसानों की कर्ज माफी की मांग को लेकर 25 अगस्त से आमरण अनशन पर बैठे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का अनशन 11वें दिन मंगलवार को भी जारी रहा जिसके बीच उनका 20 किलोग्राम वजन कम हो गया है. इसके बीच पिछले दो दिनों से हार्दिक पटेल ने सरकारी डॉक्टरों को अपने खून और मूत्र के नमूने देने से मना किया हुआ है. डॉक्टरों की टीम ने उनका रुटीन चैकअप करने के बाद यह जानकारी दी कि अनशन के पहले दिन उनका वजन 78 किलो था जो अनशन के 11वें दिन घटकर 58 किलो रह गया है. जिसको देखते हुए डॉक्टरों ने हार्दिक को अस्पताल में भर्ती होने के लिए कहा है.

हार्दिक पटेल के रूटीन चैकअप के बाद बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री और यशवंत सिन्हा और भाजपा के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने हार्दिक पटले से मुलाकात कर पाटीदारों के आरक्षण और किसानों की कर्जमाफी के आंदोलन को राष्ट्रीय स्तर पर ले जाने का आश्वसन दिया. पाटीदार नेता से मुलाकात के बाद यशवंत सिन्हा से संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, केंद्र और राज्य सरकारों को छोड़ कर पूरा देश हार्दिक पटेल के अनशन से हिल गया गया है.

पाटीदार नेता से मुलाकात के बाद यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा ने हार्दिक पटेल की मांगो का समर्थन करते हुए कहा कि हार्दिक ने जो किसानों का मुद्दा उठाया है वह केवल गुजरात के किसानों तक सीमित नहीं है बल्कि यह पूरे देश के लिए महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि देश का किसान इस वक्त गहरे दुख में है और इस स्थिति का एक स्थायी समाधान होना चाहिए. उन्होंने तमाम विपक्षी दलों से सहित सभी लोगों से अपील करते हुए कहा, कि किसानों के मुद्दों को राष्ट्रीय स्तर पर उठाया जाए.

जिसके बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुजरात मॉडल पर निशाना साधते हुए कहा कि गुजरात मॉडल जैसा कुछ भी नहीं है. उन्होंने कहा, गुजरात मॉडल फेल हो चुका है जिसके बाद अब आपको( लोकसभा चुनाव 2019 में) बोनस नहीं मिलने वाला.

दूसरी तरफ हार्दिक पटेल के आमरण अनशन पर निशाना साधते हुए गुजरात के ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने कहा, हार्दिक पटेल के अनिश्चितकालीन आमरण अनशन को विपक्षी दल कांग्रेस का समर्थन मिल रहा है लेकिन हम बता दें कि गुजरात सरकार पटेल समुदाय और किसानों के लिए अपना अच्छे से अच्छा कर रही है. इसके अलावा राज्य सरकार सामान्य वर्ग के लाभ के लिए निगम और आयोग की स्थापना करने वाली है. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आय बढ़ाने और उनकी लाग घटाने के लिए भी काम कर रही है.

CM ममता बनर्जी ने हार्दिक पटेल को भेजी राखी, क्या इसके पीछे 2019 लोकसभा चुनाव का गणित छुपा है?

बीजेपी विधायक के दफ्तर में तोड़फोड़ करने के मामले में हार्दिक पटेल दोषी करार, कोर्ट ने दी 2 साल कैद की सजा