गांधीनगर, दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी के संस्थापक अरविन्द केजरीवाल अपने दौरे पर गुजरात के भरुच पहुंचे थे. यहां दिल्ली मुख्यमंत्री ने अपना शासन मॉडल पेश किया है जिसके पीछे उन्होंने दिल्ली और पंजाब के सफल मॉडलों का भी हवाला दिया.

मौजूदा शिक्षा मॉडल कि की निंदा

दिल्ली मुख्यमंत्री केजरीवाल ने गुजरात के भरुच में अपने सम्बोधन के दौरान राज्य में वर्तमान में मौजूद शिक्षा मॉडल के बारे में भी बात की. जहां केजरीवाल ने दिल्ली के स्कूलों का हवाला देते हुए गुजरात के स्कूलों की स्थिति को बेहद खराब बताया. उनके शब्दों में, गुजरात मैंउन 6 हज़ार सरकारी स्कूल हैं, जो बंद करवा दिए गए. केजरीवाल ने इन स्कूलों की स्थिति जर्जर बताई. साथ ही सरकार पर लाखों बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का भी आरोप लगाया.

पेपर लीक में विश्व रिकॉर्ड – केजरीवाल

दिल्ली सीएम ने आगे कहा, गुजरात में पेपर लीक हो रहे हैं. राज्य इस मामले में विश्व रिकॉर्ड दर्ज़ कर रहा है. उन्होंने गुजरात सीएम को चुनौती देते हुए कहा, मैं सीएम भूपेंद्र पटेल को बिना पेपर लीक के एक भी परीक्षा आयोजित करने की चुनौती देता हूं. उन्होंने आगे कहा, आप मुझे एक मौका दीजिये अगर मैं स्कूलों में सुधार नहीं ला पाया तो आप मुझे उखाड़ फेंकना.

दिल्ली के स्कूलों पर दावा

दिल्ली मुख्यमंत्री ने आगे दावा किया है कि दिल्ली के 4 लाख छात्र निजी स्कूलों से सरकारी स्कूलों में स्थानांतरित हो गए, उनके शब्दों में “अमीर और गरीब के बच्चे अब दिल्ली में, एक साथ पढ़ रहे हैं. दिल्ली का इस बार 99.7% पास प्रतिशत रहा. “उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा, भाजपा व्हाट्सअप पर लिख रही है, “केजरीवाल के सरकारी स्कूल ख़राब हैं..” उन्होंने आगे गुजरात सरकार को दिल्ली आमंत्रित किया जहां वह दिल्ली के स्कूलों और अस्पतालों को देखें और आलोचना करें.

बता दें, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल दिल्ली के बाहर अब अपनी सत्ता जमाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं. जहां इस साल पंजाब में हुए विधानसभा चुनावों को लेकर उन्होंने भारी बहुमत से जीत हासिल की थी. अब आप की नज़र इस साल होने जा रहे गुजरात के विधानसभा चुनावों पर है.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर