अहमदाबाद: गुनेहगारों को सिर्फ पकड़ना ही पुलिस का काम नहीं है बल्कि पुलिस का ये भी काम है कि लोगों के दिल से अपराधी का खौफ निकल जाए. ऐसा हो जाए तो कोई भी अपराध खुद ही खत्म हो जाएगा. ऐसी ही कोशिश गुजरात पुलिस ने की है. राजकोट में आतंक का पर्याय बन चुके इभला बदमाश को पुलिस ने ना सिर्फ पकड़ा बल्कि उसकी परेड भी करा दी.

कभी लोगों के दिलों में दशहत भरने वाले इभला को जब पुलिस ने पकड़ा तो पहले तो उसकी जमकर ठुकाई की और फिर उसका सरेआम जुलूस निकाला. इस दौरान इभला हाथ जोड़े लोगों से माफी मांगते हुए नजर आया.

इभला के बारे में कहा जाता है कि 42 मामलों में उसका नाम शामिल रहा है. लोग इससे खौफ खाते थे. पुलिस के लिए भी ये सिरदर्द बना हुआ था. कई बार पुलिस को चकमा दे चुका था लेकिन बकरे की मां कबतक खैर मनाती. इभला भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया और फिर पुलिस ने पहले तो उसकी जमकर मरम्मत की और फिर लोगों के दिल से उसका खौफ मिटाने के लिए उसकी परेड़ करा दी.

अक्सर बड़े बदमाश को पकड़कर पुलिस उसकी परेड कराती है ताकि लोगों के दिल से उसकी दहशत खत्म हो जाए. हालांकि बड़े शहरों में ये प्रथा नहीं है लेकिन छोटे शहरों में जहां इस तरह के छुटभैये बदमाश लोगों पर रौब जमते हैं और उन्हें डराकर रखने की कोशिश करते हैं वहां, ऐसे बदमाशों का डर लोगों के दिलों ने निकालने के लिए पुलिस ये कदम उठाती है.

पढ़ें- दिल्ली पुलिस के पास जांच के लिए लंबित पड़े हैं सवा लाख से ज्यादा केस

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App