नई दिल्ली. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी और उनके मंत्रिमंडल के बाहर निकलने के एक दिन बाद, घाटलोडिया के विधायक भूपेंद्र पटेल को राज्य के अगले मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया। रविवार को गांधीनगर में बीजेपी विधायक दल की बैठक में यह फैसला लिया गया. भूपेंद्र पटेल के नाम का प्रस्ताव सीएम विजय रूपाणी ने किया था, जिनके शनिवार को पद से इस्तीफा देने से कई लोगों को हैरानी हुई थी। भाजपा सूत्रों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि 182 सदस्यीय विधानसभा में पार्टी के 112 विधायक बैठक में मौजूद थे।

राज्यपाल नियुक्त होने से पहले आनंदीबेन पटेल ने घाटलोडिया निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था।

पटेल ने घाटलोडिया निर्वाचन क्षेत्र से 2017 का गुजरात विधानसभा चुनाव जीता था, उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार शशिकांत पटेल को एक लाख से अधिक मतों से हराया था। 2017 के गुजरात चुनावों में यह सबसे अधिक जीत का अंतर था। उनके पास सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा है और उन्हें पूर्व सीएम आनंदीबेन पटेल का करीबी माना जाता है, जिन्होंने 2012 के चुनावों में इस सीट से जीत हासिल की थी।

पहली बार विधायक बने पटेल पाटीदार समुदाय के सदस्य हैं। उन्होंने अहमदाबाद में मेमनगर नगरपालिका के अध्यक्ष, अहमदाबाद नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष और अहमदाबाद शहरी विकास प्राधिकरण के पदों पर भी कार्य किया है।

बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी और नरेंद्र सिंह तोमर को भी पर्यवेक्षक नियुक्त किया है क्योंकि पार्टी शनिवार को विजय रूपाणी के पद छोड़ने के बाद गुजरात में संकट को टालना चाहती है।

Krishna-Govinda Rift : गोविंदा और सुनीता संग झगड़ें की खबरों पर कृष्णा ने तोड़ी चुप्पी, जानिए क्या कहा

UP Assembly Election : बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने यूपी में विपक्षी नेताओं को दी खुली चुनौती

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर