गुजरात. चक्रवाती तूफान वायु अब गुजरात से नहीं टकराएगा. मौसम विभाग की ओर से जारी ताजा जानकारी के अनुसार चक्रवाती तूफान गुजरात नहीं पहुंचेगा. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा है कि राज्य अब चक्रवात वायु से अब पूरी तरह सुरक्षित है. जिन अफसरों को इस स्थिति से निपटने के लिए 10 सबसे अधिक प्रभावित जगहों पर भेजा गया था उन्हें अब सरकार ने वापस बुलाने का फैसला लिया है.

हालांकि इससे पहले वायु तूफान गुजरात के पोरबंदर और द्वारका के पास से होकर गुजरा. इससे कोस्टल इलाके में तूफान वायु का असर देखने को मिला. इसके अलावा मौसम विभाग ने बताया है कि मानसून को अभी मुंबई पहुंचने में 7 दिन और लगेंगे. पहले बताया जा रहा था कि इस चक्रवाती तूफान से गुजरात के दस जिले प्रभावित होंगे. प्रशासन ने इन जिलों में आपातकालीन नंबर जारी कर दिए हैं.  जिन जिलों में तूफान वायु का असर सबसे ज्यादा पड़ने वाला है वो कच्छ, मोरबी, जामनगर, जूनागढ़, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, राजकोट, अमरेली, भावनगर और गीर सोमनाथ जिला हैं. सीएमओ गुजरात ने ट्वीट कर जानाकरी दी है कि पीएम मोदी ने गुजरात के सीएम विजय रूपाणी से वायु चक्रवात के संबंध में फोन पर बात की है और हर केंद्र सरकार की ओर से हर संभव मदद देने की बात कही है.  

यहां देखें Gujarat Cyclone Vayu to Hit Gujarat Coast Live Updates: 

सुबह 11.38 बजे गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने कहा है कि अब साफ हो गया है कि वायु तूफान अब गुजरात से नहीं टकराएगा और राज्य अब पूरी तरह सुरक्षित है.

सुबह 10.40 बजे  पश्चिमी रेलवे के मुताबिक चक्रवात वायु के कारण मेनलाइन की 37 और ट्रेनों को कैंसिल किया  गया है. इसके अलावा 9 ट्रेनों  की भी कैंसिल होने की संभावना है.

सुबह 10.30 बजे चक्रवात वायु का असर दक्षिण पश्चिमी मानसून पर भी पड़ रह है. इसकी वजह से मानसून को मुंबई पहुंचने में अभी और सात दिन लग सकते हैं.

सुबह 7.30 बजे बहुत गंभीर चक्रवात वायु पूर्वोत्तर के 14 जून को सुबह 3.30 बजे पूर्वोत्तर अरब सागर से सटे केंद्र में स्थित था. वायु तूफान गुजरात में दीयू से 240 किमी और पोरबंर के दक्षिण पश्चिमि से 130 किमी दूर स्थिर बना हुआ है.

रात 9:15 बजेः चक्रवाती तूफान वायु का गुजरात में असर काफी कम दिखा है. अब वह मस्कट से ओमान से टकराएगा. इस बीच एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) ने दिउ और पोरबंदर एयरपोर्ट पर कल यानी शुक्रवार सुबह 10 बजे से विमान परिचालन शुरू करने का आदेश दिया है.

रात 8 बजेः गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने कहा है कि भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान वायु गुजरात से टकराने की बजाय अब ओमान से टकराएगा. हालांकि अब भी वायु से प्रभाव से होने वाले नुकसान से बचने की पूरी तैयारी है. गुजरात के सीएम ने कहा कि अगले 24 घंटे काफी संवेदनशील हैं और 10 तटीय जिलों के सैकड़ों स्कूल बंद रखे गए हैं. साथ ही इन इलाकों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. 

शाम 6:50 बजे: गुजरात में चक्रवाती तूफान वायु की वजह से पोरबंदर स्थित भूतेश्वर महादेव मंदिर का एक हिस्सा टूटकर गिर गया है. समुद्र की तेज लहरों की वजह से मंदिर को काफी नुकसान पहुंचा है. आसपास के इलाकों में भी सावधानियां बरती जा रही हैं.  

शाम 6:30 बजे: गुजरात के पोरबंदर कोस्ट गार्ड के डीआईजी इकबाल सिंह चौहान ने कहा है कि हमलोग चक्रवाती तूफान वायु की स्थिति की मोनिटरिंग कर रहे हैं. साथ ही सभी जरूरी सावधानियां बरती जा रही हैं. किसी भी मछुआरे को समुद्र में जाने की इजाजत नहीं है और किसी भी स्थिति से निटपने के लिए हमलोग तैयार हैं.

शाम 5:10 बजे: गुजरात में चक्रवाती तूफान वायु की वजह से तटीय इलाकों के 550 से ज्यादा गांवों बिजली आपूर्ति बाधित हुई है. राहत और बचाव कर्मी बिजली आपूर्ति फिस से सुचारू रूप से चलाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. तटीय इलाकों में किसी भी प्रकार के खतरे से निपटने की पूरी व्यवस्था की गई है.

शाम 4:00 बजे: भारतीय मौसम विज्ञान से मिली जानकारी के मुताबिक चक्रवाती तूफान वायु फिलहाल गुजरात के वेरावल से 120 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम और पोरबंदर से 120 किलोमीटर दक्षिण में है. वायु का असर सौराष्ट्र के तटीय इलाकों में दिखने लगा है और वहां तेज हवा के साथ बारिश शुरू हो चुकी है. अगले 3 घंटे गुजरात के तटीय इलाकों में काफी तेज बारिश के आसार हैं. 

शाम 3:30 बजे: गुजरात के तटीय इलाकों से टकराने वाले  चक्रवाती तूफान वायु की वजह से 9 और ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं और 4 ट्रेनों के रूट डायवर्ट किए गए हैं.

दोपहर 2:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सीएम विजय रूपाणी से फोन पर बातचीत की और चक्रवाती तूफान वायु से निपटने की राज्य सरकार की तैयारियों के बारे में पूछा. पीएम मोदी ने गुजरात के सीएम को आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार की तरफ से उन्हें हरसंभव मदद मुहैया कराई जाएगी.

दोपहर 2 बजे देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वायु तूफान से निपटने के लिए इंडियन कोस्ट गार्ड और नौसेना की तैयारियों का जाएजा लिया है और स्थिति की मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

दोपहर 1 बजे मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंस के मुताबिक गुजरात के तटीय इलाकों में तूफान की चेतावनी दी गई है.

दोपहर 12 बजे गुजरात के वालसाद में समुद्र किनारे तेज हवाएं टकरा रही हैं. मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात गुजरात नहीं पहुंचेगा लेकिन तटीय इलाकों में उसका प्रभाव अवश्य होगा.

सुबह 11.45 बजे गुजरात के सूरत, भुज, केशोड़, कांडला, जामनगरस वडोडरा, अहमदाबाद, दियू, पोरबंदर और भावनगर एयरोपोर्ट्स पर स्थिति सामान्य है. इन इलाकों में हवा 30-40 kmph की रफ्तार से चल रही है जो 60 kmph तक जा सकती है. एयरपोर्ट्स को मौसम विभाग की ओर से जारी जानकारी को फॉलो करने को कहा गया है.

सुबह 11.30 बजे पंकज कुमार (एडिशनल चीफ सेक्रेटरी ऑफ रेवेन्यू) के मुताबिक अभी तक वायु चक्रवात से किसी की मृत्यु की खबर नहीं है. साथ ही कहा है कि पिछले 2 दिनों में 6 लोगों की मौत हुई है वह वायु तूफान से नहीं हुई हैं.

सुबह 9.22 बजे गुजरात के पोरबंदर में तूफान की स्थिति को देखते हुए एनडीआरएफ की 6 टीम को अलर्ट पर रखा गया है.

सुबह 9.18 बजे  मौसम विभाग, अहमदाबाद की वैज्ञानिक मनोरमा मोहन्ती के मुताबिक वायु तूफान 135-160 kmph की रफ्तार से सौराष्ट्र तटीय क्षेत्रों के पास से होकर गुजरेगा. इससे तटीय जिलों जैसे दियू, गिर सोमनाथ, जूनागढ़, पोपबंदर और द्वारका पर तूफान का असर देखने को मिलेगा.

 

सुबह 9.14 बजे मौसम विभाग, मुबंई ने कहा है कि वायु चक्रवात 900 किमी में फैला हुआ है. तेज हवाएं, तूफान और भारी बारिश के कहर अभी भी बना हुआ है. इसलिए तूफान से निपटने की तैयारियों में कोई कमी नहीं आनी चाहिए. 

सुबह 8.50 बजे अहमदाबाद मौसम विभाग वैज्ञानिक मनोरमा मोहन्ती ने बताया है कि चक्रवात वायु गुजरात नहीं पहुंचेगा. हालांकि वायु तूफान गुजरात के पोरबंदर और द्वारका के पास से होकर गुजरेगा. इससे कोस्टल इलाके में तूफान वायु का असर देखने को मिलेगा  

सुबह 8.45 बजे गुजरात के मंत्री भुपेंद्र सिंह चुदास्मा ने कहा है कि इस दौरान सोमनाथ मंदिर को बंद नहीं किया जा सकता. मंदिर में सालों से होती आ रही आरती को नहीं  रोका जा सकता है. हालांकि टूरिस्टों को सलाह दी जाती है कि घरों से बाहर ना निकलें.

सुबह 8.20 बजे तूफान वायु के चलते महाराष्ट्र के कोनकन क्षेत्र की सभी बीच को पब्लिक के लिए बंद कर दिया गया है.

 सुबह 7.55 बजे मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 6 घंटों में चक्रवाती तूफान वायु ईस्ट सेंट्रल अरब सागर के ऊपर से उत्तर-उत्तर पश्चिमि की ओर बढ़ गया है. वायु तूफान वेरावल के दक्षिण में 130 किमी और पोरबंदर से 180 किमी दक्षिण में है. कुछ समय के लिए उत्तर-उत्तर पश्चिमि की ओर बढ़ सकता है और उसके बाद दोपहर के समय हवा की गति 135-145 किमी प्रति घंटा की गति उत्तर पश्चिम वार्ड्स में सौराष्ट्र कोस्ट की ओर हो सकती है.

सुबह 7.30 बजे गुजरात  के राजकोट शहर में राहत सामग्री के पैकेट्स बनाए जा रहे हैं. अधिकारियों की मानें तो इस राहत सामग्री को तूफान प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचाया जाएगा.

सुबह 7.24 बजे  तेज हवाओं की वजह से गिर सोमनाथ जिले में बने प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर को भी क्षति पहुंची है. मंदिर के एंट्रेंस गेट पर बनी छत को तेज हवा ने नुकसान पहुंचाया है. 

सुबह 7.10 बजे गुजरात में वेरावल इलाके में तेज हवाओं ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. 

सुबह 7.06 बजे 13 जून तक महाराष्ट्र तट और पूर्वी अरब सागर के उत्तरी भागों के साथ-साथ समुद्र की स्थिति बहुत अधिक उबड़ खाबड़ होने की संभावना है.

 

सुबह 7.00 बजे  IMD के अनुसार समुद्र की स्थिति अगले 12 घंटों के दौरान पूर्व-उत्तरपूर्व और निकटवर्ती अरब सागर और गुजरात तट पर और 13-15 जून के दौरान उत्तर अरब सागर और गुजरात तट पर अभूतपूर्व है. 

सुबह 6.51 बजे मौसम विभाग के मुताबिक वायु तूफान उत्तर-उत्तर-पश्चिम के सौराष्ट्र की ओर बढ़ रहा  है. इससे गुजरात के अमरेली, गिर सोमनाथ, दियू, जूनागढ़, पोरबंदर, राजकोट, जमानगर, देवभूमि, द्वारका और कच्छ जिलों में तेज रफ्तार हवा से प्रभावित रहेंगे. आज दोपहर तक हवा की रफ्तार 165 से बढ़कर 180 kmph हो जाएगी.

 

सुबह 6.45 बजे पोरबंदर की चौपाटी बीच पर समुद्र रौद्र रूप ले चुका है. आज वायु तूफान पोरबंदर और महुवा के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है.

 

सुबह 6.25 बजे  वेरावल में जलेश्वर के समुद्र ने आक्रामक रूप ले लिया है. वायु तूफान पोरबंदर और महुवा के बीच गुजरात तट को पार करने की बहुत संभावना है. राज्य में 2.75 लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है.

 

सुबह 6.04 बजे चक्रवाती तूफान से बचने के लिए क्या करें 

सुबह 5.30 बजे  अगर आप कहीं फंस गए हैं तो बचाव के लिए आप इन नंबरों पर फोन कर मदद मांग सकते हैं. 

  • द्वारका कंट्रोल रूम- 02833 – 232125
  • जामनगर कंट्रोल रूम का नंबर है- 0288 – 2553404
  • पोरबंदर कंट्रोल रूम का नंबर है- 0286 – 2220800            
  • दाहोद कंट्रोल रूम का नंबर है-  02673 – 239277
  • नवसारी कंट्रोल रूम का नंबर है- +91 2637 259 401
  • पंचमहल कंट्रोल रूम का नंबर है- +91 2672 242 536
  • छोटा उदयपुर कंट्रोल रूम का नंबर है +91 2669 233 021
  • कच्छ कंट्रोल रूम का नंबर है 02832 – 250080
  • अरावली कंट्रोल रूम का नंबर है +91 2774 250 221
  • एनडीआरएफ की टीमों से सीधे संपर्क के लिए नंबर है +91-9711077372 

सुबह 5.00 बजे भारतीय तटरक्षक दल के सदस्य, सेना और वायु सेना की इकाइयों को भी आपदा से निरटने के लिए तैयार रखा गया है. एयरक्राफ़्ट और हेलिकॉप्टर से इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया जा रहा हैं.

सुबह 4.30 बजे  केन्द्रीय भू विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि चक्रवातीय तूफान वायु के आज दोपहर तक गुजरात पहुंचने की संभावना है.

सुबह 4.00 बजे  वेस्टर्न रेलवे ने वायु चक्रवात से प्रभावित लोगों को बचाने के लिए 3 स्पेशल ट्रेनें चलाने का ऐलान किया है. राजकोट डिविजन, भावनगर डिविजन और वेरावल से चलेंगी ट्रेनें.

Gujarat Cyclone Vayu Safety Tips: गुरुवार -को गुजरात पहुंच रहे चक्रवाती तूफान वायु में जान माल के सेफ्टी टिप्स, घर में सबसे सुरक्षित

Gujarat Cyclone Vayu Helpline Numbers: तूफान वायु में पोरबंदर, दीव, द्वारका, अमरेली, जामनगर, राजकोट, कच्छ, दाहोद, नवसारी, पंचमहाल, छोटा उदयपुर, अरावली में कंट्रोल रूम के हेल्पलाइन नंबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App