नई दिल्लीः कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का स्वास्थ्य ठीक नहीं है. उन्हें दिल संबंधी बीमारी है. कुछ दिनों पहले शीला दीक्षित को फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां से उन्हें ऑपरेशन के लिए विदेश रेफर किया गया है. 14 अगस्त को शीला दीक्षित का हार्ट का ऑपरेशन होगा. दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार इस ऑपरेशन का खर्च उठाएगी.

राजनैतिक प्रतिद्वंदिता को अलग रखते हुए दिल्ली सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के विदेश में इलाज कराने की पूरी तैयारी कर ली है. शीला दीक्षित ने कुछ दिनों पहले दिल्ली सरकार के डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विसेज (DGHS) को पत्र लिखकर फ्रांस में हार्ट वॉल्व रिप्लेसमेंट की सर्जरी करवाने का अनुरोध किया था.

लेटर में फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टिट्यूट के चेयरमैन डॉक्टर अशोक सेठ का पत्र भी संलग्न किया गया था. उन्होंने सलाह दी थी कि यह सर्जरी फ्रांस के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में हो सकती है. पत्र में शीला दीक्षित ने लिखा कि वह 14 अगस्त को अपनी सर्जरी कराना चाहती हैं. पत्र मिलने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एक 4 सदस्यीय कमेटी गठित की.

कमेटी ने शीला दीक्षित के इलाज को लेकर जानकारों से राय ली और जल्द ही वह रिपोर्ट सरकार को सौंपेंगे. जिसके बाद शीला दीक्षित फ्रांस जाकर इलाज करा सकेंगी. गौरतलब है कि नियमों के मुताबिक दिल्ली के मंत्री, पूर्व मंत्री, विधायक और पूर्व विधायकों का दिल्ली के ही अस्पतालों में इलाज करवाए जाने का नियम है. विदेश में इलाज कराने के लिए कुछ अलग नियम हैं. इसकी जांच के बाद ही इलाज विदेश में कराने का फैसला लिया जाता है. मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शीला दीक्षित के स्वास्थ्य को लेकर काफी चिंतित हैं और माना जा रहा है कि सरकार जल्द ही पूर्व सीएम के विदेश में इलाज को मंजूरी दे सकती है.

केजरीवाल की ललकार- दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दे सकते तो प्रधानमंत्री नहीं बन सकते राहुल गांधी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App