हैदराबाद. देश में जहां नरेंद्र मोदी सरकार ने ड्रोन उड़ाने के लिए 1 दिसंबर से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए हैं. वहीं तेलंगाना के हैदराबाद में ड्रोन (यूएवी) बनाने की पहली प्राइवेट सेक्टर भारतीय फैक्टरी 14 दिसंबर शुक्रवार से शुरू हो गई है. हैदराबाद के अडानी एरोस्पेस में स्थित यह ड्रोन फैक्टरी अडानी ग्रुप और इजरायली कपंनी एलिबिट सिस्टम ने मिलकर बनाई है. 50 हजार वर्ग फीट में फैली यह फैक्टरी भारतीय और वैश्विक बाजारों के लिए हर्मेस 900 नामक यूएवी (बिना चालक उड़ने वाला विमान) तैयार करेगी.

गौरतलब है कि वैश्विक बाजारों की खानापूर्ति के लिए फैक्टरी यूनिट हर्मेस 900 के लिए पूर्ण कार्बन समग्र एयरोस्ट्रक्चर के निर्माण के साथ शुरू होगी. इसके बाद हर्मेस 450 का उत्पादन शुरू किया जाएगा. यह प्लांट हैदराबाद के बाहरी इलाके में स्थित हार्डवेयर पार्क में अदानी समूह के पहले डिफेंस और एयरोस्पेस परिसर, अदानी एयरोस्पेस पार्क में बनाया गया है.

इजरायली कंपनी एलिबिट सिस्टम के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी बेजेलेल माचिलिस ने इस बारे में मीडिया को संबंधित करते हुए कहा कि दुनिया में सबसे बेहतर यूएवी सिस्टम माना जाने वाला हर्मेस 900 (MALE) और हर्मेस 450 का निर्माण भारत में किया जाएगा. यह भारतीय सरकार की रणनीतिक योजना के अनुरूप है और हमें रक्षा सिस्टम में हमारे व्यापक अनुभव को साझा करने में सक्षम बनाता है.

वहीं एलिबिट सिस्टम्स के लिमिटेड कार्यकारी उपाध्यक्ष और महाप्रबंधक एलाद अहरसनसन ने बताया कि हम इसकी चयन प्रक्रिया का हिस्सा बनने के लिए और हमें पहला मौका देने के लिए भारतीय सशस्त्र बलों की प्रतीक्षा कर रहे हैं और भरोसा है कि यह सफल होगा. बता दें कि इस प्लांट का उद्घाटन तेलंगाना के गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली ने किया.

Drone Online Registration Portal: अब ऑनलाइन मिलेगी ड्रोन उड़ाने की परमिशन, ऐसे करना होगा रजिस्ट्रेशन

बच्चों के खिलौने वाले ड्रोन छोड़कर बाकी सारे ड्रोन के लिए सरकार से लेना होगा लाइसेंस